युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 अप्रैल 2011

श्याम बाबा के भजनों पर झूम उठा शहर


डबवाली (लहू की लौ) 12वें श्री श्याम मंदिर स्थापना महोत्सव पर निकाली गई शोभा यात्रा पूरे नगर की परिक्रमा करने के बाद वापिस मंदिर में पहुंची। इस शोभा यात्रा में श्रद्धालुओं ने 71 ध्वजा उठाई हुई थीं। शोभा यात्रा के आगे भिवानी के नफीरी वादक श्याम बाबा का कीर्तन करते हुए चल रहे थे जबकि इसके साथ-साथ सुन्दर-सुन्दर झांकियां थीं।
श्री श्याम मंदिर से शुरू होकर यह यात्रा जीटी रोड़, मेन बाजार, कलोनी रोड़, चौटाला रोड़ से होती हुई वापिस मंदिर में पहुंची। इस शोभा यात्रा में चल रहे श्याम प्रभु की रथ यात्रा का जगह-जगह पुष्प वर्षा करके श्रद्धालुओं ने स्वागत किया। शोभा यात्रा में ध्वजा उठाये हुए 71 महिला-पुरूष का यह जत्था जब नगर में निकला तो पूरा नगर केसरियामय हो गया और श्याम बाबा के जयघोष से गूंज उठा। शोभा यात्रा में धूरी के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत गणेश, श्याम बाबा, हनुमान, कृष्ण, शेषनाग, दुर्गा माता की झांकियां आकर्षण का केन्द्र बनी हुई थीं।
इस शोभा यात्रा में बठिंडा, मलोट, अबोहर, फाजिल्कां, सिरसा, भिवानी, फतेहाबाद से श्याम भक्तों ने भाग लिया। इस मौके पर पवन गोयल, बलवन्त तायल, ओंमकार गोयल, गोपाल मित्तल, आशीष मित्तल, बंटी गोयल, प्रकाश चन्द बांसल गंगा, कमल बांसल, बनवारी लाल रिनवा, गोवर्धन गोयल, रामसहाय शर्मा, विक्की बांसल मलोट, लक्ष्मी नारायण मित्तल, साहिल मित्तल, सुरेश मित्तल, लक्ष्मी नारायण मित्तल उपस्थित थे। मंदिर प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष पवन गोयल ने बताया कि 15 अप्रैल को मंदिर में बाबा का विशाल जागरण होगा। जिसमें बाबा का भव्य दरबार सजाया जाएगा।
इस मौके पर मुस्कान गोयल, मास्टर साहिल गोयल, प्रदीप अग्रवाल दिल्ली, बिमल दीक्षित अलीगढ़, बबली शर्मा बठिंडा बाबा का गुणगान करेंगे। इसके अतिरिक्त बाबा का अलौकिक श्रृंगार देखने योग्य होगा। 16 अप्रैल को सुबह 11 बजे विशाल भण्डारा आयोजित किया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: