युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 अप्रैल 2011

वध के लिए लेजाए जा रहे थे पशु, 26 पर मामला दर्ज


डबवाली (लहू की लौ) गौशाला डबवाली की गोरक्षा सेवा समिति के सदस्यों ने रविवार रात को गौ वध के लिए ले जाए जा रहे पशुओं से भरे 7 कैंटरों को कब्जे में लेकर उन्हें पुलिस के सुपुर्द कर दिया। थाना शहर पुलिस ने पशु क्रूरता अधिनियम 11/59/1960  के तहत 26 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सात कैंटरों में ठूंस-ठूंस कर भरे 80 गाय और 37 बछड़े मुक्त करवाकर गौशाला को सौंप दिए गए।
गौशाला डबवाली की गोरक्षा सेवा समिति के सदस्यों को मुखबरी मिली कि कुछ लोग कैंटरों में गायों व बछडों को भरकर पंजाब की ओर से आ रहे हैं। इन कैंटरों में पशुओं को ठूंस-ठूंस कर भर रखा है। ये सभी कैंटर डबवाली से होकर गुजरेंगे। समिति के प्रवक्ता संदीप बिश्नोई ने बताया कि सूचना पाकर समिति सदस्य सुरेश, योगित बिश्नोई, चरणजीत सिंह दंदीवाल, विष्णु, उमेद सिंह, सोनू, ओमप्रकाश आदि ने गौशाला प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष जवाहर लाल कामरा के नेतृत्व में बठिंडा चौक पर नाकाबंदी कर दी। इधर इसकी सूचना थाना शहर पुलिस को भी दी गई। मौका पर पुलिस भी पहुंच गई। इसी दौरान गायों व बछडों से भरे सात कैंटर आए। इन कैंटरों में गाय और बछड़ों को ठूंस-ठूंस कर भर रखा था। कैंटर के टूल बॉक्स तथा सीट के नीचे बछड़ों को बुरी तरह से डाला हुआ था। सीट के नीचे बछड़ों को डालकर कुछ लोग ऊपर बैठे हुए थे। थाना शहर प्रभारी बलवंत जस्सू ने बताया कि सातों कैंटरों को कब्जे में लेकर कैंटरों में भरी हुई 80 गाय व 37 बछड़ों को डबवाली की गौशाला में भेज दिया गया। पुलिस ने मौके से 26 आरोपियों को काबू किया। गौशाला प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष जवाहर कामरा के ब्यान पर आरोपियों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम 11/59/1960 के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपियों ने अपनी पहचान गांव कंसाली (मेवात) निवासी हमीद खान पुत्र बशीर खान, दीनदार पुत्र जुम्मा खान, रसीद खान पुत्र नूर मोहम्मद, अब्बास खान पुत्र बशीर खान, इस्लाम पुत्र रफी खान, अहमद खान पुत्र हमीद खान, अकबर खान पुत्र कमाल, मजीद खान पुत्र नूर मोहम्मद, मौसम पुत्र रमजान, हबीब खान पुत्र अब्दुलखान, इरफान पुत्र सिराज खान, शाहिद खान पुत्र साहबदीन, बावदीन पुत्र कुल्लू, शब्बीर पुत्र रमजान, अली पुत्र घुना, मुवीन पुत्र असरूखान, गांव घासेड़ा (मेवात) निवासी तसलीम पुत्र नूर मोहम्मद, फतेह खान पुत्र मुंशी खान, हरूप पुत्र मुस्सा खान, कासम पुत्र ईशरखान, अनीश पुत्र कायश, मुनस पुत्र अमर मोहम्मद, फरीदाबाद निवासी सतीश पुत्र हरी सिंह, राकेश पुत्र हेतराम, अनीस पुत्र नन्हें खान, ईदरीस पुत्र मत्तू खान के रूप में करवाई है।
थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपियों ने उक्त पशु साथ लगते राज्य पंजाब के जिला श्री मुक्तसर साहिब की किलियांवाली मण्डी में भरने वाले पशु मेले से खरीदे थे।

कोई टिप्पणी नहीं: