युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

26 नवंबर 2014

गरीब के लुटने के बाद नगर परिषद ने जलाई लाईट

डबवाली (लहू की लौ) रामबाग के नजदीक करीब दो हफ्तों से बंद पड़ी स्ट्रीट लाईट एक गरीब के लुटने के बाद मंगलवार को जल गई। हालांकि लोग कई दफा नगर परिषद में शिकायत दर्ज करवा चुके थे।
सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे भाटी कलोनी में रहने वाला नंदू दूध लेकर पैदल ही वापिस घर लौट रहा था। रामबाग के नजदीक बाईक लिये खड़े तीन युवकों ने उसे रोककर पीटना शुरू कर दिया। उसकी जेब से 500 रूपये निकाल लिये। युवकों से बचने के चक्कर में उसका दूध वहीं बिखर गया। शोर मचाने पर युवक बाईक लेकर चौटाला रोड़ की ओर फरार हो गये। नंदू के अनुसार उस समय क्षेत्र में अंधकार छाया हुआ था। एक भी स्ट्रीट लाईट नहीं जल रही थी।
इधर विजय खनगवाल, किशोरी डाबला, शीतल कुमार ने बताया कि महक हत्याकांड के बाद प्रशासन ने स्ट्रीट लाईट लगवाई थी। लगने के बाद अधिकांश समय बंद रहती हैं। अब भी पिछले पंद्रह दिनों से बंद थी। उन्होंने कई बार इसकी शिकायत नगर परिषद कार्यालय में की। व्यक्तिगत तौर पर भी भवन निरीक्षक सुमित ढांडा से लाईट जलाने के लिये कहा। लेकिन कोई सुनवाई नहीं। आखिरकार सोमवार रात को एक गरीब से वारदात होने के बाद शिकायत एसडीएम कार्यालय में की। जिसके बाद नगर परिषद ने मंगलवार शाम को मौका पर पहुंचकर बंद पड़ी लाईट ठीक की।
भवन निरीक्षक सुमित ढांडा ने बताया कि रामबाग के नजदीक करीब 18 पोल लगे हुये हैं। नशेड़ी युवक स्ट्रीट लाईट की केबल काट देते हैं। जिसकी वजह से लाईट बंद हो जाती है। मंगलवार को मौका का निरीक्षण करने पर दो जगह से केबल कटी हुई मिली। जिसे जोडऩे के बाद स्ट्रीट लाईट जल गई।

कोई टिप्पणी नहीं: