युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

21 नवंबर 2014

सरपंच के खिलाफ कार्रवाई न होने से गुस्साये बिजली कर्मी

डबवाली (लहू की लौ) बिजली मीटर उखाडऩे के बाद फोन पर एसडीई से गाली-गलौज करने तथा जान से मारने की धमकी देने का मामला तूल पकड़ गया है। वीरवार को उपमंडल चौटाला के बिजली कर्मचारियों ने अपना कार्य छोड़कर आसाखेड़ा सबस्टेशन पर धरना दिया। आरोपी सरपंच के विरूद्ध जमकर नारेबाजी कर गिरफ्तारी की मांग की। निगम अधिकारियों के आश्वासन के बाद बिजली कर्मी माने।
धरने पर बैठे कर्मचारी
वीरवार सुबह बिजली कर्मचारी हंसराज वर्मा, मदन लाल, एचएसईबी वर्कर यूनियन सबयूनिट चौटाला के अध्यक्ष करनैल सिंह, सुरेश कड़वासरा, टेकचंद, राधेश्याम, रामकुमार के नेतृत्व में आसाखेड़ा सबस्टेशन में एकत्रित हुये। एसडीई मोहन लाल से बदसलूकी प्रकरण में हड़ताल करके धरना शुरू कर दिया। कर्मचारियों ने करीब तीन घंटे तक नारेबाजी करते हुये प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पुलिस मामले में ढिलाई बरत रही है। पिछले दो साल से बिजली निगम बिल भरने के लिये सरपंच के आगे मिन्नतें कर रहा है। लेकिन सरपंच पर इसका कोई असर नहीं था। निगम के उच्च अधिकारियों के आदेश पर ही एसडीई संबंधित सरपंच के घर रिकवरी करने के लिये गये थे। कनेक्शन कट करके मीटर उखाडऩे की कार्यवाही अंजाम दी। जिस पर बौखलाये सरपंच ने उन्हें गालियां निकाली। जान से मारने की धमकी देने के साथ-साथ गांव कालूआना तक पीछा भी किया। शिकायत पुलिस में करने पर भी आरोपी सरपंच के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है, जोकि निदंनीय है।
उच्च अधिकारियों ने समझाया
बिजली कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने की भनक पाकर निगम के मंडल अभियंता अशोक भनोट ने उपमंडल चौटाला के कर्मचारियों से बातचीत की। उन्होंने संबंधित सरपंच के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करवाने का आश्वासन दिया। इस संबंध में उच्च अधिकारियों से बातचीत करने की बात कही। जिस पर कर्मचारी हड़ताल छोड़कर वापिस काम पर लौट आये।
पुलिस बोली यह सबूत कोर्ट में नहीं चलेगा
बिजली निगम डबवाली के मंडल अभियंता अशोक भनोट ने बताया कि एसडीई मोहन लाल के पास सरपंच की बदसलूकी के प्रमाण हैं। फोन पर हुई जिरह की रिकॉर्डिंग हैं। वीरवार को एसडीई मोहन लाल के साथ कुछ कर्मचारी सबूत को देने के लिये सदर थाना में गये थे। वहां कार्यकारी प्रभारी ने कहा कि कोर्ट ऐसे सबूत को नहीं मानती। पूरे घटनाक्रम की जानकारी एसडीएम सतीश कुमार को दे दी गई है। संबंधित सरपंच के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करने के लिये डीएसपी डबवाली को पत्र लिखा गया है।

एसडीई के बाद सरपंच ने दी शिकायत
दोनों ओर से शिकायत आई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। सरपंच ने एसडीई पर जाति सूचक शब्दों के प्रयोग करने का आरोप लगाया है। सरपंच ने एसडीई से मारपीट या फिर हाथापाई नहीं की है, जिसे सरकारी कार्यवाही में बाधा माना जाये। मामला चौटाला पुलिस चौकी से संबंधित है। जांच जारी है।
-बलवीर सिंह, कार्यकारी प्रभारी, सदर थाना, डबवाली

कोई टिप्पणी नहीं: