युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 दिसंबर 2014

मांगेआना में शुरू हुआ दो दिवसीय फल मेला


-प्रदेश भर से 2500 किसानों ने 2230 फलों को मेले में उतारा
-फल की बनावट, रंग तथा टेस्ट के आधार पर होगा पुरस्कार का चयन

डबवाली (लहू की लौ) इंडो-इजरायल प्रोजेक्ट के तहत गांव मांगेआना में बने फल उत्कृष्टता केंद्र में दो दिवसीय फल मेला शुरू हुआ। पहले दिन करीब 2500 किसानों ने 2230 फल मेले में रखे। चौ. चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय की बारह सदस्यीय टीम बुधवार को अपना निर्णय सुनाएगी। पहले तीन स्थानों पर आने वाले किसानों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जायेगा। पुरस्कार फल की बनावट, रंग तथा टेस्ट के आधार पर मिलेगा।
मेले का शुभारंभ उद्यान विभाग हरियाणा के महानिदेशक डॉ. अर्जुन सिंह सैनी ने किया। डॉ. सैनी द्वारा केन्द्र पर प्रदर्शन तकनीकी व फसलों का अवलोकन किया। उन्होंने उपस्थित किसानों से कहा कि इस प्रकार के मेलों से बागवानी की नवीनतम तकनीकियों की जानकारी किसानों को उपलब्ध करवाई जाती है व किसान भाईयों को बागवानी में ज्यादा से ज्यादा नई तकनीकों को अपनाना चाहिए जिससे ज्यादा पैदावार के साथ-साथ अच्छी गुणवत्ता के फल व सब्जी प्राप्त होती हैं। जिसका बाजार भाव अच्छा मिलता है। उन्होंने यह भी बताया कि फल उत्कृष्टता केन्द्र, मांगेआना, सिरसा की तर्ज पर भारतवर्ष के अन्य राज्यो में भी फल उत्कृष्टता केन्द्र स्थापित किये गये है। किसानों को उत्कृष्टता केन्द्र पर लगाई गई विभिन्न प्रकार की फसलों जैसे, नींबू वर्गीय पौधें, अनार, अमरूद, खजूर, बेर आदि को विभिन्न प्रयोगों द्वारा दिखाया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: