युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

18 नवंबर 2014

दुर्गा मंदिर से मुकुट, छत्र, सब ले उड़े चोर

संत रामपाल मामले में डयूटी निभाने पर चौकी, थाने खाली, अपराधियों की खुल गई लॉटरी

डबवाली (लहू की लौ) संत रामपाल मामले ने हरियाणा पुलिस की नाक में दम कर रखा हैं। वहीं चौकियां, थाने खाली होने से अपराधियों की लॉटरी खुल गई है। रविवार रात को अज्ञात चोर शहर के बीचों-बीच स्थित दुर्गा मंदिर से लाखों रूपये के जेवरात चुरा ले गये। एक साल के भीतर मंदिर में यह पांचवी चोरी है। गोल बाजार पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

सुबह करीब पौने छह बजे पुजारी राजकुमार, संजय मंदिर खोलने के लिये पहुंचे। मंदिर का द्वार खुला पाकर उन्हें चोरी की आशंका हुई। इसकी जानकारी तुरंत मंदिर प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष अशोक जिंदल तथा मंदिर के नजदीक रहने वाले डॉ. राजकपूर को दी। जानकारी पाकर शहर थाना पुलिस भी मौका पर पहुंच गई। मंदिर के भीतर सामान बिखरा पड़ा था। गोलक टूटे पड़े थे। पुजारियों ने सामान संभाला तो मां दुर्गा, बजरंग बली, साईं बाबा, राधा तथा कृष्ण के सिर से चांदी के मुकुट गायब मिले। दुर्गा माता के नाक से सोने की नथ गायब मिली। दुर्गा माता को पहनाये करीब तीन तोले चांदी के छत्र सहित वहीं पड़े 20 छोटे छत्र भी गायब हैं। इसके अतिरिक्त उपरोक्त मूर्तियों के गले में पहने नोटों के हार भी चोर साथ ले गये। गोलकों में नकदी गायब मिली। मंदिर प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष अशोक जिंदल के अनुसार करीब तीन लाख रूपये का नुक्सान हुआ है।

मंदिर में पांचवीं चोरी
मंदिर में चोरी का सिलसिला नवंबर 2013 से शुरू हुआ था। रविवार रात को मंदिर में पांचवी चोरी हुई। हर बार की तरह इस बार भी चोरों ने मंदिर के साथ जाती गली से मंदिर की प्रथम मंजिल पर कदम रखा। खिड़की खोलने के बाद भीतर घुस गये। वारदात को अंजाम देने के बाद आराम से मुख्य द्वार के ताले काटकर निकल गये।
मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे, लेकिन डीवीआर नहीं था : दुर्गा मंदिर की प्रबंधक कमेटी के सदस्यों ने मंदिर में बढ़ती चोरियों के परिणामस्वरूप मंदिर में सीसीटीवी कैमरे लगवाये थे। कुछ समय पूर्व चोरी के दौरान चोर डीवीआर ही अपने साथ ले गये थे। उसके बाद कमेटी ने डीवीआर नहीं लगाया। जबकि कैमरे वैसे के वैसे लगे हुये हैं। रात को भी चोरों ने वारदात को अंजाम देने से पहले डीवीआर रूम में इंट्री की। लेकिन डीवीआर नहीं मिला।

जांच शुरू
गोल बाजार पुलिस चौकी के एसआई भूप सिंह ने बताया कि चोरी की गुत्थी सुलझाने के लिये पुलिस ने फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट धर्मवीर सिंह को मौका पर बुलाकर तथ्य जुटाये हैं। मंदिर प्रबंधक कमेटी सदस्यों ने कुछ युवकों पर शक जाहिर किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: