युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

18 नवंबर 2014

शिक्षा ही विकास की पहली सीढ़ी-एसडीएम

डबवाली (लहू की लौ) अखिल वाल्मीकि समाज न्याय मंच के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष स्व. सुरेश कुमार गोगा की दूसरी पुण्यतिथि पर रविदास नगर में स्थित रविदास मंदिर में श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में एसडीएम सतीश कुमार मुख्यातिथि के तौर पर उपस्थित हुए व विशिष्ट अतिथि शहर के प्रसिद्ध हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. रमेश कुमार थे।
इस मौके पर संबोधन के दौरान एसडीएम सतीश कुमार ने कहा कि समाज की तरक्की के लिए शिक्षा अनिवार्य है। शिक्षा ही विकास की पहली सीढ़ी है जिससे सारे रास्ते अपने आप खुल जाते हैं। उन्होंने कहा कि हमें अपने बच्चों को शिक्षित करने का प्रण लेना चाहिए। नारी शिक्षा पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि यदि महिलाएं शिक्षित होंगी तो समाज की तरक्की निश्चित है। शिक्षित व्यक्ति भाग्य व भगवान के भरोसे नहीं बल्कि अपने पुरूषार्थ से आगे बढ़ता है। मानवता की प्रति अच्छी सोच रखकर ही समाज का भला हो सकता है।
डॉ. रमेश कुमार ने भी विचार रखे। इस दौरान अतिथियों व मंच के सदस्यों ने स्व. सुरेश गोगा के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी व सुरेश गोगा द्वारा समाज हित में किए गए कार्यों को याद किया।
बिमला महाशा राट्रीय अध्यक्ष बनी
इस अवसर पर अखिल वाल्मीकि समाज न्याय मंच के नए पदाधिकारियों के चुनाव करवाए गए। इन चुनावों में बिमला पुहाल को राष्ट्रीय अध्यक्ष, ओम प्रकाश धारीवाल को वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, श्याम लाल राठी को प्रधान महासचिव, विजय पुहाल को राष्ट्रीय सचिव, अमृतपाल को राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, भंवर लाल चांवरिया को मुख्य संचालक, अमर सिंह अमर को कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष, रामेश्वर दलाल को कानून प्रकोष्ठ का अध्यक्ष, गोरा अलीकां को राष्ट्रीय महासचिव व आशा वाल्मीकी को राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया।
इसके अलावा हरबंस लाल रांझा को मंच की पंजाब इकाई का अध्यक्ष चुनने के साथ-साथ कुलवंत राय बोहत मलोट, राजकुमार पहलवान संगरूर, संतोष कुमार दोदा व सतीश कुमार टाक बठिंडा को कार्यकारिणी में शामिल किया गया। भंवर लाल चांवरिया को राजस्थान इकाई का अध्यक्ष बनाया गया। अमर सिंह अमर को दिल्ली इकाई का अध्यक्ष बनाने के साथ रामेश्वर दलाल सेठ व गरीब दास जोगी बिरादरी को दिल्ली इकाई में शामिल किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: