युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

08 जनवरी 2011

सिलेंडर में आग

डबवाली (लहू की लौ) श्री दुर्गा मंदिर के समीप रह रहे आर्किटेकट हरिप्रकाश शर्मा के निवास पर गैस सिलेण्डर बदलते समय अचानक आग भड़क जाने से शर्मा का परिवार बाल-बाल बच गया। सिलेण्डर में गैस के साथ मिट्टी का तेल मिले होने की बात कही जा रही है। आर्किटेकट हरिप्रकाश शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को उसकी पत्नी दिव्या घर की रसोई में खाना बना रही थी। अचानक सिलेण्डर खत्म हो गया। शर्मा के अनुसार उसने अपने असिस्टेंट भूपिन्द्र कुमार को साथ लेकर भारत गैस कंपनी का भरा सिलेण्डर लगा दिया। जब रेगुलेटर को ऑन किया तो अचानक आग धधक गई। इसी दौरान गैस सिलेण्डर में से निकला मिट्टी का तेल उसके चेहरे व कपड़ों पर पड़ गया। उन्होंने बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया।
खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निरीक्षक अरविंद पूनियां ने बताया कि उन्होंने शिकायत मिलने पर मौका पर जाकर सिलेण्डर की चैकिंग की। सिलेण्डर सही पाया गया है। सिलेण्डर में मिट्टी तेल नहीं है। कई बार गैस ठोस रूप ले लेती है।

कोई टिप्पणी नहीं: