युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

06 मार्च 2010

शराब ठेका से 15 हजार रूपये लूटे

सिरसा। एक तरफ तो जिला में हिंसक वारदातों की पुनरावृत्ति रोकने के लिए पुलिस भागदौड़ कर रही है वहीं दूसरी ओर चोर लूटेरे पुलिस को परेशानी में डाले हुए है।
जोधकां गांव में बीती रात पिस्तोल की नोक पर मोटरसाइकिल सवार तीन युवक शराब ठेके से हजारों की नकदी लूट ले गए। मामले की सूचना पाकर पुलिस के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और नाकेबंदी कर लूटेरों को पकडऩे का काफी प्रयास किया लेकिन वे उनकी पकड़ में नहीं आए। डिंग पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
बताया गया है कि गांव जोधका स्थित देसी शराब के ठेेके पर बीती रात करीब पौने 9 बजे मोटरसाइकिल पर तीन युवक आए और ठेके के कारिंदे धर्मपाल व पिंटू पर पिस्तोल तान दी तथा 15 हजार की लूट ले गए। धर्मपाल व पिंटू ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। पुलिस कुछ देर में मौके पर आ गई। धर्मपाल व पिंटू के मुताबिक लूटेरों में से एक ने मुंह पर नकाब ओढ़ा हुआ था। पुलिस फरार लूटेरों की सरगर्मी से तलाश में लगी हुई है। फिलहाल उनका कोई पता नहीं चला है।
उल्लेखनीय है कि 27 फरवरी की शाम को जिला में डेरा सच्चा सौदा के प्रेमियों द्वारा सरकारी बसों में की गई तोडफ़ोड़ व आगजनी के बाद पुलिस काफी सर्तकता से काम ले रही है। पुलिस का फिलवक्त मुख्य ध्येय ऐसी हिंसक घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकना है। ऐसे में जिला पुलिस के एक तरफा ध्यान का फायदा उठाते हुए बीती रात लूटेरे वारदात कर गए। यह बात अलग है कि 27 फरवरी से पहले भी जिला में चोरी व लूट की अनेक वारदातें हो चुकी है।

कोई टिप्पणी नहीं: