युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 नवंबर 2009

होमगार्ड जवानों ने लगाया रिश्वतखोर को बचाने के लिए उच्च अधिकारियों पर दबाव डालने का आरोप


डबवाली (लहू की लौ) हल्का डबवाली के होमगार्ड जवान यहां के खेल परिसर में वीरवार को इक्ट्ठे हुए और उन्होंने आरोप लगाया कि रिश्वत के आरोप में सिरसा में सतर्कता ब्यूरो के हाथों पकड़े गये होमगार्ड इंचार्ज को बचाने के लिए होमगार्ड के उच्च अधिकारी प्रयासरत हैं तथा उन पर दबाव डाल रहे हैं।
वीरवार को सुबह होते ही डबवाली के खेल परिसर में होमगार्ड में कार्यरत जवान इक्ट्ठे होने शुरू हो गये। लगभग 40 होमगार्ड जवानों ने इस मौके पर अपनी यूनियन का गठन करने की घोषणा की और सर्वसम्मति से जवान विनोद कुमार बिश्नोई को अपना प्रधान मनोनित कर दिया। चुनाव के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए विनोद कुमार बिश्नोई ने बताया कि सतर्कता विभाग द्वारा सिरसा में पकड़ा गया उनका इंचार्ज राजेश कुमार उनसे उनके वेतन में से मनमर्जी से पैसे काटता था। बिश्नोई के अनुसार वह उन्हें काम के बदले 4500 रूपये का चैक देता और चैक भुगतान के समय बैंक के आगे खड़ा हो जाता, जो भी होमगार्ड जवान चैक कैश करवाकर बैंक से निकलता, उससे 1500 से 2000 रूपये प्रति होमगार्ड जवान वसूलता।
अगर वे इस सम्बन्ध में शिकायत करते तो उन्हें अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ता और तीन-तीन माह तक उन्हें डयूटी पर तैनात नहीं करता था। अब जब वे पैसे लेता हुआ पकड़ा गया और उसे निलम्बित कर दिया गया, तो उन पर उनका कम्पनी कमांडर गंगाजल बिश्नोई वेतन देते समय यह लिखवाकर ले रहा है कि कोई कुछ नहीं लेता था। उन पर अनावश्यक दबाव डालकर राजेश प्रकरण को रफा-दफा करने का प्रयास किया जा रहा है।
उन्होंने इस मौके पर इस संवाददाता को यह भी बताया कि वह अब राज्य स्तर पर यूनियन का गठन करेंगे और रेगुलर किये जाने की मांग करेंगे। इस मौके पर होमगार्ड जवानों में से मंगत सिधू, हरपाल, राजू, जसवन्त, जग्गा राम, राजेश, साहिल, लालचन्द, जसपाल, विक्की, सुखमन्दर, गुरतेज, पवन कुमार, बलवन्त, मोहन लाल, राजेश कुमार आदि उपस्थित थे। इस अवसर पर होमगार्ड जवानों ने अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी भी की।

कोई टिप्पणी नहीं: