युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 नवंबर 2009

ठेकेदार पहुंचा बाबा की दरगाह पर

डबवाली(लहू की लौ) हरियाणा कॉटन फैक्टरी में इन दिनों बार-बार रहस्यमय ढंग से आग लगने का कारण चर्चा का विषय बना हुआ है।
फैक्टरी में काम करने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि इस फैक्टरी के पीछे बाबा की समाध बनी हुई है। उसके अनुसार मान्यता है कि जो भी कोई व्यक्ति इस फैक्टरी को चलाता है उसे इस बाबा को नियाज़ देनी पड़ती है। यदि नियाज़ नहीं दी जाती तो फैक्टरी में नुक्सान की संभावना रहती है।
इस व्यक्ति के अनुसार दो माह पूर्व यह फैक्टरी सीसीआई के पास थी और सीसीआई के अधिकारी बाबा की समाध पर नियाज़ करते थे जिसके चलते कभी भी फैक्टरी में बड़ा नुक्सान नहीं हुआ था। लेकिन वर्तमान ठेकेदार बाबा की सेवा करने में आनाकानी करता था। शायद यहीं कारण है कि पिछले 5 दिनों में करीब पांच बार आग लग चुकी है और दो बार तो बड़ी आग।
जब उससे इस संवाददाता ने पूछा कि वह अपने तर्क कैसे सही ठहराता है तो उसका कहना था कि आज सुबह 5 बजे जब सार्जन बन्द थी तो आग सार्जन के पास रूई को अचानक आग लग गई और इसके कुछ समय बाद फैक्टरी के पीछे पड़ी रूई को आग लग गई। जिस पर पल्लेदारों ने नियंत्रण पा लिया था और आज शाम को भी अचानक आग लगी है। इसी व्यक्ति ने मौका दिखाते हुए बताया कि आखिर आज ठेेकेदार बाबा की दरगाह पर हाजिर हो ही गया।

कोई टिप्पणी नहीं: