युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

14 सितंबर 2009

हुड्डा का फीलगुड डबवाली के लोगों को हुआ फील

रविवार को पूरा दिन बन्द रही बिजली
डबवाली (लहू की लौ) करीब साढ़े चार वर्ष पूर्व बिजली समस्या के समाधान के नारे के साथ हरियाणा की सत्ता में आई कांग्रेस को इस बार बिजली करारा झटका दे सकती है। विधानसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है और सरकार बिजली फालतू होने का ढोंग रच रही है। जबकि वास्तविकता में रविवार को पूरा दिन डबवाली में बिजली नहीं आई और लोगों को हुड्डा का फीलगुड का नारा भी अच्छी प्रकार से फील हो गया। रविवार को अचानक सुबह करीब 6.45 पर बिजली लोगों को धोखा देकर अलविदा कह गई। लोग दोपहरी में भी टकटकी लगाकर देखते रहे कि शायद बिजली अब आई...अब आई...। लेकिन एक बार गई कब वापिस आने वाले थी। दक्षिण हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम डबवाली मण्डल के एक्सीयन आर.के. वर्मा से जब इस संदर्भ में पूछने का प्रयास किया गया तो पहले तो उन्होंने मोबाइल उठाया नहीं, घण्टी जाती रही। बाद में स्विच ऑफ कर दिया। शायद वे जानते थे कि लोग उनसे बिजली न आने का कारण ही पूछ रहे हैं। इसके बाद एसडीई गुलशन वधवा से बातचीत की गई तो उन्होंने मोबाइल पर बताया कि उसे मालूम नहीं बिजली क्यों बन्द है। लेकिन जानकारी के लिए जेई गुरबख्श से बातचीत करें। जब जेई से सम्पर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने मोबाइल नहीं उठाया, घण्टी बजती रही। इसके बाद फिर एसडीई से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि मिठड़ी के पास 132केवी लाईन की तार टूट गई है। इसको ठीक करने का कार्य चल रहा है। लेकिन कब तक ये बहाल होगी, फिलहाल इसके सम्बन्ध में अभी कुछ कहना कठिन है। यहां अभी देखना बाकी है कि इन विधानसभा चुनावों में हुड्डा का गुडफील का नारा कहींं भाजपा के शाईनिंग इण्डिया के नारे की तरह बैडफील तो साबित नहीं होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: