युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 नवंबर 2014

आरएसएस शांति न रखता तो अलग देश होता पंजाब

डबवाली (लहू की लौ) करीब चौबीस वर्ष पूर्व आएसएस शाखा पर हुये आतंकवादी हमले में शहीद हुये स्वयंसेवकों को श्रद्धांजलि दी गई। रविवार को मंडी किलियांवाली स्थित वारदात स्थल पर शाखा लगी। जिसके बाद हवन यज्ञ हुआ। 17 नवंबर 1990 को मंडी किलियांवाली स्थित जलघर में आरएसएस शाखा के दौरान एक जीप पर सवार होकर आये चार आतंकवादियों ने हमला कर दिया था। जिसमें 11 स्वयंसेवकों की मृत्यु हो गई थी। रविवार को आएसएस ने स्वयंसेवकों की याद में श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया। इस मौके पर आरएसएस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये आरएसएस के विस्तारक वीरभान ने कहा कि आरएसएस कार्यकर्ता सरकार से उपरोक्त वारदात स्थल पर पार्क बनाने की मांग करेंगे। ताकि शहीदों की याद में बने स्मारक स्थल को चिरस्थाई बनाया जा सके। इससे पूर्व हवन यज्ञ हुआ। जिसमें फिरंगी लाल ने मुख्य यजमान के तौर पर भाग लिया। इस अवसर पर आरएसएस के नगर कार्यवाहक अमृतपाल, सह नगर कार्यवाहक नरेश कुमार, भाजपा नेता देवकुमार शर्मा, शहीद स्मारक समिति के अध्यक्ष शाम लाल, संरक्षक एडवोकेट राजिंद्र गुप्ता, राम लाल बागड़ी, मुकंद लाल सेठी, राजेश डेयरी वाले, अरूण कुमार, राकेश वधवा, नीरज जिंदल, सुनील जिंदल, बहादर सिंह कूका उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: