युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 नवंबर 2014

90 फीसदी लोगों के दांतों में मिला कीड़ा

सामाजिक संस्था नई किरण ने लगाया शिविर, 304 मरीजों की हुई जांच


डबवाली (लहू की लौ) अपने दांतों की जांच करवाने पहुंचे करीब 90 फीसदी लोगों के दांतों पर कीड़ा लगा मिला। जिसे देखकर दंत चिकित्सक भी हैरान हो गये। दंत चिकित्सकों ने बच्चों से लेकर बुजुर्गों को दिन में दो बार ब्रश करने की सलाह दी।

304 मरीजों की हुई जांच
मौका सामाजिक संस्था नई किरण की ओर से तनसुख दास बिहारी लाल धर्मशाला में आयोजित दंत चिकित्सा शिविर का था। शिविर में 304 लोग अपने दांतों की जांच करवाने के लिये पहुंचे। दंत चिकित्सक अंशुल सचदेवा, नेहा सचदेवा तथा पायल ने जांच की। चिकित्सकों ने बताया कि अधिकतर लोगों के दांतों में कीड़ा लगा मिला है। अक्सर खाद्य पदार्थ दांतों में फंस जाते हैं। ब्रश न करने की वजह से यह रोग में बदल जाता है। यह ऐसा रोग है, एक बार होने पर वह तेजी से दांतों में फैलता है। जिसकी वजह से मसूड़े कमजोर हो जाते हैं। दर्द के साथ हिलना शुरू हो जाते हैं।
ब्रश करने का मैथेड
डॉ. अंशुल सचदेवा ने बताया कि ब्रश करने का अपना मैथेड है। कुछ लोग दांतों में चमक लाने के लिये जोर-जोर से ब्रश रगड़ते हैं। जो कि गलत है। नीचले दातों पर नीचे से ऊपर और ऊपर के दांतों पर ऊपर से नीचे ब्रश को रगडऩा चाहिये। लेकिन अधिक दबाव से नहीं। दांतों संबंधी बीमारियों से बचने के लिये सुबह तथा रात को खाना खाने के बाद ब्रश करना चाहिये।
इस नुस्खे से मिल सकती है निजात
चिकित्सकों के अनुसार सुबह तथा शाम को गुनगुने (थोड़ा सा गर्म) पानी में नमक मिलाने के बाद खारे पानी से कुरली की जाये तो बीमारियों से बचा जा सकता है।
इससे पूर्व शिविर का शुभारंभ एसडीएम सतीश कुमार ने किया। इस मौके पर वियोगी हरि शर्मा, मुकेश कामरा, डॉ. एमएल बागला, संस्था के अध्यक्ष कर्ण कामरा, गौरव सिंगला, लवली शर्मा, पंकज बांसल, सुमित मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: