युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

24 नवंबर 2014

डायल करना होगा नंबर, खाली हो जायेगा डस्टबिन

डबवाली (लहू की लौ) प्रदेश सरकार के स्वच्छ हरियाणा-स्वच्छ भारत अभियान को आगे लेजाते हुये प्रशासन ने कुछ नियम बना डाले हैं। यहां अब डस्टबिन बोलेगा, मुझे उठा लो। वहीं लघुशंका करने पर जुर्माना अदा करना होगा। इस बीच शहर की स्वच्छता का जिम्मा भी मातृ शक्ति के हाथ देना तय हो गया है। इसके लिये एसडीएम वार्ड वाईज महिला कमेटियों का गठन करेंगे।
1 नवंबर 2014 से लगातार चल रहे स्वच्छता अभियान में एक कड़ी ओर जोड़ते हुये प्रशासन ने शहर के अलग-अलग जगहों पर रखे डस्टबिन पर नंबर अंकित करने का फैसला लिया है। नगर परिषद के सफाई निरीक्षक को जवाबदेह करने के लिये उसका मोबाइल नंबर इन डस्टबिन पर लिखा जायेगा। संबंधित व्यक्ति को इस मोबाइल नंबर पर केवल डस्टबिन का नंबर बताना होगा। नगर परिषद कर्मी तुरंत गंदगी से भरे डस्टबिन को उठा ले जाएंगे। यहीं नहीं शहर में स्वच्छता की ओर एक कदम ओर बढ़ाते हुये प्रशासन ने नगर परिषद कर्मियों का चार्टर तैयार करने का मन बनाया है। इसके तहत प्रत्येक कर्मचारी के कार्यक्षेत्र का मेप प्रशासन के हाथ में होगा। सफाई संबंधी शिकायत मिलने पर संबंधित कर्मचारी से जवाब तलबी की जायेगी।
महिलाओं के हाथ होगी स्वच्छता की बागडोर
डबवाली प्रशासन खट्टर सरकार के स्वच्छता अभियान की बागडोर मातृ शक्ति के हाथों में सौंपना चाहता है। इसके तहत एसडीएम सतीश कुमार वार्ड वाईज महिला कमेटियां गठित करेंगे। इससे पूर्व वे महिलाओं तथा समाजसेवियों के साथ बैठक करेंगे, ताकि योजना को अमलीजामा पहनाया जा सकें।
इधर जुर्माना लगाने की तैयारी
नई अनाज मंडी में स्वच्छता बनाये रखने के लिये मार्किट कमेटी लघुशंका करते पकड़े जाने पर जुर्माना लगाने जा रही है। मार्किट कमेटी सचिव हेतराम ने बताया कि अनाज मंडी में शौचालय बने हुये हैं। इसके बावजूद कुछ लोग शैड तथा शौचालयों के बाहर लघुशंका करते हैं। जिससे गंदगी का आलम बना रहता है। जिनस लेकर मंडी में आने वाले किसानों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिये कच्चा आढ़ती एसोसिएशन के साथ मिलकर लघुशंका करते पकड़े जाने पर 50 रूपये जुर्माना ठोका जायेगा, ताकि अनाज मंडी की स्वच्छता कायम रह सके।

शिकायतों के बाद निर्णय

डस्टबिन पर नंबर अंकित किये जाएंगे। इसके अतिरिक्त सीनेटरी इंस्पेक्टर का मोबाइल नंबर साथ में लिखा जायेगा। डस्टबिन भरे होने के बावजूद न उठने संबंधी लोगों की शिकायतों के बाद ही उपरोक्त निर्णय लिया गया है। स्वच्छता अभियान को जिंदा रखने के लिये महिला कमेटियां गठित की जाएंगी। मेरा मानना है कि मातृ शक्ति की आहुति के बिना प्रत्येक यज्ञ अधूरा है।
-सतीश कुमार, एसडीएम, डबवाली

कोई टिप्पणी नहीं: