युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

18 जनवरी 2011

समाज को बर्बाद कर रही है कांग्रेस-चौटाला

चंडीगढ़। इनेलो ने कांग्रेस सरकार पर जानबूझकर महंगाई बढ़ाने व कालाबाजारी को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए पेट्रोल की बढ़ाई हुई कीमतों को तुरन्त वापिस लिए जाने की मांग की है। इनेलो प्रमुख व हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा निरंतर लिए जा रहे जनविरोधी फैसलों से यह बात पूरी तरह से साफ हो गई है कि कांगे्रस पूंजीपतियों के हितों की रक्षा करने वाली और गरीब व किसान वर्ग को तबाह करने वाली पार्टी है और लगातार ऐसे फैसले लिए जा रहे हैं जिसका फायदा पूंजीपति वर्ग को हो और किसान व गरीब आदमी पूरी तरह से तबाह हो जाए। उन्होंने कहा कि पेट्रोल के दामों में की गई यह बढ़ौतरी न सिर्फ गरीब व आम आदमी को पूरी तरह से तबाह कर देगी बल्कि इससे महंगाई को बढ़ावा मिलेगा और देश पूरी तरह बर्बाद होने के कगार पर पहुंच जाएगा।
चौटाला ने कहा कि यूपीए सरकार ने पिछले साल 25 जून को पेट्रोल की कीमतें तय करने का अधिकार तेल कंपनियों को दिया था और उसके बाद 26 जून से लेकर 15 जनवरी तक अब तक करीब 14 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत बढ़ाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी को पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़ते ही भारी खमियाजा भुगतना पड़ता है और सभी प्रकार की चीजों के दामों में एकाएक बढ़ौतरी हो जाती है। उन्होंने कहा कि पिछले सात महीनों के दौरान पेट्रोल के दामों में सात बार बढ़ौतरी की जा चुकी है और अब तो हर महीने पेट्रोल के दाम में ढाई से तीन रुपए प्रति लीटर बढ़ौतरी करने का सिलसिला ही शुरू हो गया है। इनेलो प्रमुख ने कहा कि जहां अन्य देशों में किसानों को डीजल पर भारी सब्सिडी दी जाती है वहीं दूसरी तरफ भारत में न सिर्फ पेट्रोल और डीजल पर सौ फीसदी से ज्यादा विभिन्न मदों के तहत टैक्स व शुल्क वसूले जाते हैं बल्कि आए दिन कीमतों में बढ़ौतरी करके किसान सहित समाज के हर वर्ग को बर्बाद किया जा रहा है। इनेलो प्रमुख ने कहा कि पेट्रोल के दामों से सरकारी नियंत्रण हटाकर दाम तय करने का अधिकार निजी कम्पनियों को सौंप दिए जाने का कांग्रेस सरकार का फैसला पूरी तरह से जनविरोधी व पूंजीपति व्यवस्था को बढ़ावा देने के प्रयासों की ही देन है। उन्होंने कहा कि पहले पेट्रोल के दाम बढ़ाए जाते हैं और फिर पेट्रोल की आड़ में डीजल व रसोई गैस के दामों में भी बढ़ौतरी कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि पिछले छह महीनों में डीजल के दाम भी पांच बार बढ़ाए जा चुके हैं और अब छठी बार बढ़ाए जाने की तैयारियां की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में जब कच्चे तेल की कीमत 140 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गई थी उस समय भी देश में पेट्रोल के दाम 45 रुपए लीटर के आसपास थे। उसके बाद जब कच्चे दामों की कीमतें घटकर 45 डॉलर प्रति बैरल के आसपास आ गई तो उस समय आम उपभोक्ता को इन घटी हुई दरों का पूरा लाभ देने के लिए कीमतों में इसी अनुपात से कटौती नहीं की गई। दूसरी तरफ अब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें जब 85 से 90 डॉलर प्रति बैरल के आसपास हैं तो पेट्रोल की कीमतें बढ़ाकर 60 से 65 रुपए प्रति लीटर तक कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि आज 28 रुपए प्रति लीटर वाले उत्पाद को विभिन्न प्रकार के टैक्स व शुल्क लगाकर 60 से 65 रुपए प्रति लीटर तक बेचा जा रहा है।
चौटाला ने कहा कि कांग्रेस को आम आदमी दुख-दर्द व तकलीफ से कोई लेना-देना नहीं है और बड़े-बड़े औद्योगिक घरानों व भू-माफिया को फायदा पहुंचाने के लिए ही कांग्रेस सरकारों द्वारा नीतियां तय की जाती हैं। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश महंगाई की मार झेल रहा है और प्याज व टमाटर 60 रुपए किलो और लहसुन 300 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गया है। आए दिन चीनी, दाल व सब्जियों के दामों में बढ़ौतरी हो रही है और केंद्र की यूपीए सरकार व प्रदेश की हुड्डा सरकार लोगों को बहकाने के लिए कोरी बयानबाजी करने में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि जो सरकार लोगों को महंगाई से राहत नहीं प्रदान कर सकती उसे सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक व लोकतांत्रिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार लोगों के धैर्य की परीक्षा लेने का काम न करे अन्यथा जब लोगों का धैर्य जवाब दे जाएगा तो देश व प्रदेश में कांग्रेस की सरकारों को जनता उखाड़ फैंकने का काम करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हुड्डा सरकार दोनों हाथों से प्रदेश को लूटने में लगी हुई है और प्रदेश में पूरी तरह से जंगलराज है। उन्होंने कहा कि हत्या, बलात्कार, अपहरण, फिरौती व डकैती की घटनाओं में आए दिन इजाफा हो रहा है और प्रदेश में हर कोई अपने आपको पूरी तरह से असुरक्षित मान रहा है। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में जल्दी ही कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार न किया गया तो यह पूरी तरह से बेकाबू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि आज हुड्डा सरकार में मुख्यमंत्री से लेकर सभी मंत्री, कांग्रेसी सांसद व विधायक प्रॉपर्टी डीलिंग के धंधे में लगे हुए हैं और प्रदेश की कीमती जमीनें कौडिय़ों के भाव भू-माफिया व बड़े औद्योगिक घरानों को सौंपकर प्रदेश के किसान को पूरी तरह से बर्बाद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कभी सेज के नाम पर किसानों को लूटा जा रहा है तो कभी भूमि अधिग्रहण व रिलीज के नाम पर अरबों रुपए के घोटाले किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज अफसरशाही पूरी तरह से बेलगाम हो गई है और किसी भी सरकारी दफ्तर में कोई भी सामान्य काम बिना पैसे के नहीं हो रहा। उन्होंने सरकार पर नौकरियां नीलाम करने व भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि दलबदल व खरीदोफरोख्त के बलबूते सत्ता में आई हुड्डा सरकार चंद दिनों की मेहमान है और जल्द ही इसका पतन तय है।

कोई टिप्पणी नहीं: