युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

05 जून 2011

छेड़छाड़ में फंसे डॉक्टर की डेपूटेशन

डबवाली (लहू की लौ) एएनएम से छेड़छाड़ मामले में माफी मांगकर अपना पिंड छुड़वाने वाले डॉक्टर का अभी भी यह विवाद पीछा नहीं छोड़ रहा है। हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ने मामले का ठीकरा डॉक्टर पर फोड़ते हुए उसको डेपूटेशन पर भेज दिया है। विभाग के गांव मांगेआना में बने सब सैन्टर पर तैनात एएनएम सत्या देवी ने आरोप लगाया था कि 25 मई को चैकिंग पर आए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र देसूजोधा के प्रभारी डॉ. गुरजीत सिंह ने उससे छेड़छाड़ की है। एएनएम के इस आरोप से हरियाणा स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। इधर मामले की भनक एमपीएचडब्ल्यू एसोसिएशन हरियाणा को लग गई।
डॉक्टर के विरूद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर विभिन्न सरकारी कर्मचारी संगठनों के कार्यकर्ता लामबंद हो गए। डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर संगठनों ने एसोसिएशन की अध्यक्षा निर्मल बुलारा के नेतृत्व में 30 मई को अस्पताल में खूब बवाल काटा। पूरा दिन धरना, प्रदर्शन, नारेबाजी होती रही। यहां तक की डॉक्टर से मारपीट भी हुई। बाद में डॉक्टर ने अपने किए पर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगकर अपना पिंड छुड़वाया था।
हाथ जोड़कर माफी मांगने वाले डॉक्टर का अभी भी यह विवाद पीछा नहीं छोड़ रहा। अब हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ने इसका नजला डॉ. गुरजीत सिंह तथा उनकी पत्नी अमनदीप कौर पर गिराया है। डॉक्टर दम्पति को चौदह दिन के लिए डेपूटेशन पर दड़बा कलां भेज दिया गया है। वहीं विभाग के आला अधिकारी गुपचुप तरीके से मामले की टोह लेने में जुटे हुए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: