युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

13 जनवरी 2011

सरकार के खिलाफ अदालत में जाएंगे अध्यापक

डबवाली (लहू की लौ) अध्यापक पात्रता परीक्षा पास बेरोजगार अध्यापकों ने हरियाणा सरकार पर नौकरियां देने के मामले में जिला सिरसा के उम्मीदवारों से भेदभाव बरतने का आरोप लगाया है।
अध्यापक पात्रता परीक्षा पास गोपाल, अमित, सुभाष, सुशील, संदीप, मनोज, हर्ष, जीवन सिंगला, दीपक, वीनीत सेतिया, राहुल मिढ़ा, हेमलता, बलवान, महिंद्र, धर्मपाल, मनिन्द्र, भारत भूषण, रोहताश, सीता राम के अनुसार साल 2009 में हरियाणा स्टाफ सलेक्शन कमीशन ने अध्यापक पात्रता परीक्षा पास गणित अध्यापकों के 1000 पदों के लिए आवेदन मांगे थे। जिला सिरसा से परीक्षा पास बेरोजगार अध्यापकों ने भी आवेदन किया था। मई 2010 में उक्त पदों के लिए इंटरव्यू हुए। इंटरव्यू की लिस्ट बीती 7 जनवरी 2011 को जारी की गई है। हैरत की बात है कि लिस्ट में जिला सिरसा से एक भी उम्मीदवार का चयन नहीं किया गया है।
अध्यापक पात्रता परीक्षा पास इन अध्यापकों ने आरोप लगाया कि इंटरव्यू के समय उनसे पूछा गया कि वे किस जिले के रहने वाले हैं, वे इस समय क्या कर रहे हैं। जबकि इंटरव्यू के समय ऐसे सवालों का कोई मतलब नहीं है। बेरोजगार अध्यापकों ने हरियाणा स्टाफ सलेक्शन कमीशन पर सरकार के इशारे पर जिला पूछकर नौकरियां बांटने का आरोप जड़ा है। उक्त अध्यापकों ने एक प्रैस विज्ञप्ति जारी करके सरकार से लिस्ट को पुन: जांच करके जारी करने की मांग की है। साथ में चेतावनी दी कि वे सरकार के इस रवैये के खिलाफ आंदोलन करेंगे। अगर सरकार न मानी तो वे अदालत का दरवाजा खटखटाने को बाध्य होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: