युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

13 जनवरी 2011

यूरिया खाद की कमी, रोष

डबवाली (लहू की लौ) गांव चौटाला में यूरिया खाद की कमी के चलते किसानों में सोसायटी के प्रति गहरा रोष व्यप्त है।
किसान राम चन्द्र, भजन लाल, रामकुमार लोहमरोड़, त्रिलोक चन्द सिहाग, दया राम ने बताया कि जिला सिरसा का गांव चौटाला सबसे बड़ा गांव है और इसके 40 हजार एकड़ में बोआई होती है। इन दिनों गेहूं व सरसों की बिजाई की हुई है लेकिन खाद न मिलने से उनकी फसलों को भारी नुक्सान हो रहा है।
किसान खाद के लिए हर रोज सोसायटी के चक्कर काट रहे हैं। लेकिन हर रोज उन्हें यह कह कर टरका दिया जाता है कि खाद कल आ जायेगी। किसानों के अनुसार 8 जनवरी को खाद का रैक सिरसा से लोड हो चुका है लेकिन गांव की सोसायटी में आज तक खाद नहीं पहुंची। जिसके चलते उन्हें भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। इसके विपरीत कंट्रोल रेट 266 रूपये होने के बावजूद बाजार में 340 रूपये यूरिया खाद बिक रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: