युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

13 जनवरी 2011

सुबह होते ही बदल गई बिल्टी!

डबवाली (लहू की लौ) रातों-रात ठिकाने लगाए जा रहे यूरिया खाद से भरे दो ट्रकों को गांव जोगेवाला के पास किसानों ने घेर लिया। कालाबाजारी का आरोप लगाते हुए जांच की मांग को लेकर किसानों ने एक ट्रक को थाना शहर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। जबकि एक ट्रक चालक ट्रक को भगा ले गया।
मंगलवार रात करीब 10 बजे दो ट्रक गांव जोगेवाला स्थित दि को-ऑपरेटिव सोसाईटी  पैक्स जोगेवाला में आकर रूके। दोनों ट्रकों में यूरिया खाद के 600 बैग भरे हुए थे। खाद के ट्रकों की सूचना पाकर सोसाईटी के सेल्जमैन बिकर सिंह मौका पर पहुंचे। इधर इसकी भनक पाकर सोसाईटी के सदस्य जग्गा सिंह भी काफी किसानों के साथ मौका पर गए। किसानों की उपस्थिति में बिकर सिंह ने ट्रक ड्राईवरों से कागजात की मांग की। कागजात देखने पर सेल्जमैनों ने कागजात को सोसाईटी के न होने की बात कही। मौका देखकर एक चालक ट्रक को भगा ले गया। जिस पर किसान भड़क उठे। उन्होंने यूरिया खाद की कालाबाजारी करने का आरोप लगाते हुए इसकी सूचना पुलिस को दे दी।
दि को-ऑपरेटिव सोसाईटी जोगेवाला के सदस्य जग्गा सिंह ने बताया कि सोसाईटी के नाम पर यूरिया खाद से भरे दो ट्रक मंगलवार रात को गांव जोगेवाला में पहुंचे थे। इसकी सूचना उन्होंने सोसाईटी के सेल्जमैन बिकर सिंह को दी। बिकर सिंह सूचना पाकर मौका पर पहुंचा।
सेल्जमैन बिकर सिंह ने बताया कि उसे पैक्स के सदस्य जग्गा सिंह ने सूचना दी थी। सूचना पाकर वह मौका पर पहुंचा। उस समय उसने ट्रकों के चालकों से ट्रक बिल्टी लेकर चैक की। लेकिन ट्रक बिल्टी सुरेन्द्र कुमार तथा भोला निवासी डबवाली के नाम पर थी। जोकि जोगेवाला के नाम पर कटी हुई थी। जांच के बाद पाया गया कि जोगेवाला सोसाईटी के नाम कागजात नहीं थे। जिस पर उसने माल उतरवाने से इंकार कर दिया। इसी दौरान एक ट्रक चालक ट्रक लेकर फरार हो गया। जबकि दूसरे ट्रक को मौका पर पहुंचे थाना शहर प्रभारी बलवंत जस्सू के सुपुर्द कर दिया गया। बिकर सिंह ने बताया कि उनसे पुलिस ने यह लिखवाकर लिया कि यह माल सोसाईटी का नहीं है। सेल्जमैन के अनुसार सुबह जब उन्होंने पुलिस से कार्रवाई के संबंध में जानकारी चाही, तो उन्हें बताया गया कि बिल्टी तो डबवाली की एक फर्म के नाम पर है। उन्होंने कहा कि संदेह है कि रातों-रात बिल्टी को बदल दिया गया।
थाना शहर प्रभारी बलवंत जस्सू ने बताया कि रात को गांव जोगेवाला में यूरिया खाद के भरे ट्रक को किसानों द्वारा घेरे जाने की सूचना पाकर वह अपने दलबल सहित मौका पर पहुंचे। लेकिन ट्रक चालक ने बिल्टी उसके पास न होने की बात कही। इस पर वे मौका की निजाकत को समझते हुए ट्रक को अपने साथ थाना में ले आए। बुधवार सुबह फर्म हंसराज हमेश कुमार का पार्टनर दीपू उनके समक्ष प्रस्तुत हुआ और उसने बिल्टी अपनी फर्म की प्रस्तुत की तथा बताया कि गलती से ट्रक चालक जोगेवाला गांव में घुस गया था। सोसाईटी की खाद समझकर किसानों ने उसे घेर लिया था। ट्रक को छोड़ दिया गया है।
इस संवाददाता से बातचीत करते हुए फर्म हंसराज हमेश कुमार डबवाली के पार्टनर दीपू ने बताया कि उनके पास यह माल रवि कुमार एण्ड कंपनी, सिरसा से दो ट्रकों में भरकर आया था। जिसमें कुल 600 यूरिया खाद के बैग थे। यह कोरोडम कंपनी की गिरदावरी यूरिया खाद थी। उनके अनुसार आज वहीं से सोसाईटी की खाद भी चलनी थी। लेकिन खाद लाने वाले ट्रक चालक भूल से डबवाली आने की बजाए गांव जोगेवाला में घुस गए।
इधर ट्रक चालक बलवंत सिंह निवासी सिरसा ने बताया कि उन्होंने खाद की भर्ती सिरसा रेलवे ट्रक से की थी। उनके पास गांव जोगेवाला सोसाईटी की बिल्टी थी। इस पर वे माल को जोगेवाला लेकर गए थे। उसने बताया कि जो ट्रक चालक भागा उसका नाम जसवीर सिंह है।

कोई टिप्पणी नहीं: