युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

23 नवंबर 2014

ग्रामीणों की चेतावनी के बाद चार थानों की पुलिस ने डाला डूमवाली में डेरा

डबवाली (लहू की लौ) शुक्रवार को हुये बवाल के बाद गांव डूमवाली में शनिवार को भी स्थिति तनावपूर्ण रही। ग्रामीणों के सड़क मार्ग जाम करने की सूचना पर चार थानों की पुलिस ने गांव में मोर्चा संभाले रखा।
सुबह करीब 10 बजे पंजाब पुलिस की चार गाडिय़ों ने गांव में प्रवेश किया। गांव का चक्कर लगाने के बाद पुलिस बल ने डबवाली-बठिंडा रोड़ पर डेरा डाल लिया। सुबह से शाम तक पुलिस बल गांव में मौजूद रहा।  पुलिस बल ग्रामीणों की टोह लेने के लिये पूरा दिन सादी वर्दी में मुलाजिम भेजता रहा। बाद में जाम न लगाने की पुख्ता जानकारी मिलने पर वापिस हो गया।
ग्रामीणों ने दी थी जाम लगाने की धमकी : शुक्रवार को संगत के बीडीपीओ जगराज सिंह पुलिस बल के साथ पंचायती जमीन पर अवैध कब्जे को हटाने के लिये पहुंचे थे। जिसका ग्रामीणों ने विरोध किया था। पथराव कर जेसीबी का शीशा तक तोड़ डाला था। जेसीबी का शीशा तोडऩे के आरोप में पुलिस ने केस दर्ज करके तीन युवकों को गिरफ्तार किया था। पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ ग्रामीणों ने डबवाली-बठिंडा रोड़ जाम करने की चेतावनी दी थी। जिस पर शनिवार को संगत, नथाना, कोटफत्ता तथा आनंदगढ़ थानों की पुलिस ने गांव डूमवाली में डेरा जमाये रखा।

कोई टिप्पणी नहीं: