युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

23 नवंबर 2014

शहीदी दिवस के संदर्भ में नगर कीर्तन निकाला

डबवाली (लहू की लौ) सिखों के नौवें गुरू तेग बहादुर के शहीदी दिवस के संदर्भ में सिख संगतों ने शनिवार को नगर कीर्तन निकाला। जिसका शहर में जगह-जगह पुष्प वर्षा करके स्वागत किया गया। पंज प्यारों की अगुवाई वाला यह नगर कीर्तन पूरी तरह से हाईटेक था। जेब कतरों से बचने के लिये फूलों से सजी पालकी साहिब में विराजमान श्री गुरूग्रंथ साहिब के ठीक ऊपर कैमरा लगाया गया था। जबकि एक कैमरा नगर कीर्तन की रिकॉर्डिंग कर रहा था।
गतके के जोहर दिखाये
गुरूद्वारा बाबा विश्वकर्मा मंदिर में अरदास के बाद नगर कीर्तन शुरू हुआ। नगर कीर्तन में अखाड़ा बाबा दीप सिंह गतका पार्टी के सदस्य गतके के जोहर दिखाते हुये आगे बढ़ रहे थे। महिलाएं गुरूबाणी का जाप कर रही थीं। रागी तथा ढाड़ी जत्थे सिख इतिहास सुनाकर संगतों को निहाल कर रहे थे। नगर कीर्तन में स्कूली बच्चे अपने बैंड के साथ शामिल हुये। नगर कीर्तन सिरसा रोड़, चौटाला रोड़, नई अनाज मंडी रोड़, न्यू बस स्टेंड रोड़ से होते हुये वापिस गुरूद्वारा में पहुंचा।
24 नवंबर को मनेगा शहीदी दिवस
गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान कुलवंत सिंह ने बताया कि 24 नवंबर को गुरू तेग बहादुर का शहीदी दिवस गुरूद्वारा बाबा विश्वकर्मा मंदिर में श्रद्धापूर्वक मनाया जायेगा। इससे पूर्व 23 नवंबर को शाम 7 से रात्रि 10 बजे तक इलाहीवाणी का कीर्तन होगा। शहीदी दिवस पर अखंड पाठ के भोग डाले जाएंगे। कीर्तन दरबार सजाया जायेगा। गुरू का लंगर अटूट बरतेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: