युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

03 सितंबर 2009

रणजीत सिंह मान ने किया शक्ति प्रदर्शन

डबवाली (लहू की लौ) गांव मसीतां के पूर्व सरपंच एवं कांग्रेसी नेता रणजीत सिंह मान ने कहा कि हुड्डा ने हरियाणा को भय मुक्त शासन देकर चौटाला परिवार की ज्यादतियों के कारण जो भय पैदा डबवाली क्षेत्र में हुआ था, उससे निजात दिलाई है। अब भी समय है कि इनेलो के कफन में आखिरी कील ठोक दिया जाये और पुन: चौटाला की तानाशाही सरकार न आ सकें।

वे बुधवार को यहां कम्युनिटी हाल में आयोजित पंजाबी सम्मेलन में लोगों की उमड़ी भीड़ को सम्बोधित कर रहे थे। उनके अनुसार इनेलो के शासन के दौरान व्यापारी डबवाली में व्यापार करना भूल ही नहीं गये थे, बल्कि यहां से अपने काम धंधे समेट कर चौटाला सरकार के भय से पलायन कर गये थे। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस के सिपाही हैं और लोगों के पहरेदार हैं। पार्टी जिस भी व्यक्ति को टिकट देगी उसका समर्थन करेंगे। लेकिन उनकी इच्छा है कि किसी पंजाबी को कांग्रेस टिकट दे।
इस मौके पर सिक्ख नेता मलकीत सिंह पन्नीवाला मोरिका ने कहा कि कांग्रेस सिक्ख हितैषी है। जबकि पड़ौसी राज्य पंजाब के कुछ स्वार्थी लोग आपके पास आयेंगे और चिकनी-चोपडिय़ां बातें करके वोट हथियाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने लोगों को ऐसे लोगों से सावधान रहने को कहा। इस मौके पर उन्होंने चौटाला एण्ड कम्पनी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने यह भी कहा कि हल्का डबवाली के पंजाबी कांग्रेस के साथ हैं, लेकिन अगर कांग्रेस ने कोई बाहरी व्यक्ति को हल्का डबवाली से प्रत्याशी बनाया तो यह संदेहजनक होगा।
इस अवसर पर मार्किट कमेटी डबवाली के चेयरमैन जसवन्त सिंह बराड़, सतपाल सिंह सत्ता, जगपाल सिंह, डॉ. आर.के. वर्मा, जयचन्द रहेजा, रणजीत सिंह सांवतखेड़ा, चित्रगुप्त छाबड़ा, सुन्दर सिंह कण्डा, भोला सिंह सकताखेड़ा आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: