युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

03 सितंबर 2009

रेड्डी का हेलीकाप्टर क्रैश में निधन

कुरनूल। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी और चार अन्य लोगों की हेलीकाप्टर दुर्घटना में मौत हो गई है। बुधवार की सुबह से लापता उनका हेलीकाप्टर खराब मौसम के कारण नल्ला-माला पहाड़ियों में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। हैदराबाद से चित्तूर के लिए उड़ान भरने के एक घंटे बाद ही मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर का रेडियो संपर्क टूट गया था।

राज्य विधानसभा और लोकसभा चुनाव में अपने दम पर कांग्रेस को राज्य में शानदार विजय दिलाने वाले 60 वर्षीय राजशेखर रेड्डी की मौत की खबर आते ही राजधानी दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में लगा राष्ट्रीय ध्वज झुका दिया गया।
क्रैश हेलीकाप्टर के मलबे मिलने के साथ ही राजशेखर रेड्डी, उनके विशेष सचिव पी सुब्रह्माण्यम, मुख्य सुरक्षा अधिकारी एएससी वेस्ली, पायलट ग्रुप कैप्टन एसके भाटिया और सह पायलट एमएस रेड्डी के शव रूद्रकोंडा पहाड़ी से मिल गए हैं। यह इलाका यहां से 40 नाटिकल मील पूर्व में है।
आधिकारिक तौर पर उनकी मौत की पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन दिल्ली स्थित कांग्रेस के आला सूत्रों ने बताया है कि हेलीकाप्टर में सवार लोगों के शव मिल गए हैं। एक सरकारी बयान जल्द ही जारी किए जाने की संभावना है। हादसे की वजह से केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक रद्द कर दी गई है।
उधर, राज्य के वित्तमंत्री के रोसैया कार्यवाहक मुख्यमंत्री होंगे इसकी जानकारी दी गई है।
प्रधानमंत्री आवास पर गुरुवार को कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक के बाद हादसे के बारे में जानकारी दी गई, लेकिन इस संबंध में बुधवार रात से ही आशंका बढ़ने लगी थी, जब हेलीकाप्टर का पता लगाने के लिए चलाए गए खोज अभियान असफल हो गए।
हेलीकाप्टर के लापता होने के ठीक 24 घंटे बाद वायु सेना के बेंगलूर से रवाना हुए हेलीकाप्टरों ने कुरनूल के 70 किलोमीटर पूर्व में रूद्रकोंडा पहाड़ी पर हेलीकाप्टर का मलबा ढूंढ निकाला। गौरतलब है कि हेलीकाप्टर का कल साढ़े नौ बजे रेडियो संपर्क टूट गया था।
हेलीकाप्टर बुधवार को हैदराबाद के बेगमपेट हवाई अड्डे से चित्तूर के लिए रवाना हुआ था और इसे 10 बजकर 40 मिनट पर अपने गंतव्य पर पहुंचना था।
उधर, बेंगलूर एयर कमान के एयर कोमोडोर सागर भारती ने हेलीकाप्टर के मिलने की जगह के बारे में तो बताया, लेकिन उसमें सवार लोगों के बारे में कोई सूचना नहीं दी। उन्होंने कहा कि दो हेलीकाप्टर उस जगह उतरने की कोशिश कर रहे हैं।
हालांकि केंद्रीय गृह सचिव जी के पिल्लई ने संकेत दिया कि 11 वर्ष पुराना बेल 430 हेलीकाप्टर शायद दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। वायु सेना का बचाव दल इलाके तक पहुंचने के लिए पैरा कमांडोज को रस्सी के सहारे मौके पर उतारने की कोशिश कर रहा है।
कोर ग्रुप की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, वरिष्ठ मंत्री प्रणव मुखर्जी, एके एंटोनी, पी चिदंबरम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने आंध्र प्रदेश में पार्टी के कद्दावर नेता की मौत के बाद उत्पन्न हालात पर चर्चा की।

कोई टिप्पणी नहीं: