युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

31 जनवरी 2017

पहले विद्यालय मुखिया पानी जांचेंगे, फिर बच्चों को मिलेगा

पेयजल टंकियों के ढक्कन पर ताला लगाने के आदेश
डबवाली (लहू की लौ) जिला के गांव शेखूपुरिया के सरकारी स्कूल में पानी पीने से लड़कियों की हालत बिगडऩे के मामले में शिक्षा विभाग ने त्वरित संज्ञान लिया है। सभी विद्यालयों के मुखियों को पानी की ंटंकी के ढक्कन को ताला लगाकर रखने के आदेश जारी किए हैं। प्रतिदिन पीने के पानी की गुणवत्ता की जांच संबंधित स्कूल मुखिया करेंगे। बीईओ को स्कूलों का निरीक्षण करके रिपोर्ट देने के लिए कहा है। अगर कहीं लापरवाही मिलती है तो संबंधित मुखिया के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी ने अपने आदेशों में कहा है कि मिड-डे मील के तहत आए राशन को भी समुचित ढंग से साफ-सुथरा रखा जाए। मिड-डे मील विभाग द्वारा जारी मेन्यू अनुसार बढिय़ा ढंग से बनाया जाए। बच्चों को मिड-डे मील परोसने से पहले स्टाफ खुद भोजन चखकर उसकी गुणवत्ता जांचे। जिला शिक्षा अधिकारी ने बीईओ को स्कूलों का औचक्क निरीक्षण करने के लिए कहा है। गौरतलब है कि सोमवार को गांव शेखूपुरिया के सरकारी स्कूल की पानी की टंकी में जहरीला पदार्थ मिले होने का मामला सामने आया था। पानी पीने से काफी बच्चे बेहोश होकर गिर पड़े थे। जिन्हें उपचार के लिए नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर लेजाया गया था। सूचना पाकर एडीसी अजय तोमर मौका पर पहुंचे थे।

कोई टिप्पणी नहीं: