युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

22 नवंबर 2014

विशेष बच्चों के अधिकारों पर बनी डॉक्यूमेंट्री खिलते फूल को सराहा

डबवाली (लहू की लौ) कानूनी साक्षरता मिशन के तहत शुक्रवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में खंड स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया

गया। प्रतियोगिता में बच्चों ने समाज की मुख्य समस्याओं पर कटाक्ष किया।
पिंकी ने उकेरी सबसे बढिय़ा पेंटिंग
एनपीएस की पिंकी की पर्यावरण विषय पर उकेरी गई पेंटिंग को पहला, बीएस आदर्श सीनियर सैकेंडरी स्कूल अबूबशहर की कनुप्रिया की बाल विवाह पर उकेरी पेंटिंग को दूसरा तथा एचपीएस शेरगढ़ की गगनदीप कौर की नशा मुक्ति पर बनाई गई पेंटिंग को तीसरा स्थान मिला। स्लोगन लेखन में नेहरू सीनियर सैकेंडरी स्कूल की प्रिंयका शर्मा के नशा मुक्ति, एचपीएस की गीतांजलि शर्मा के नारी उत्पीडऩ तथा सीएम डीएवी स्कूल के कन्या भ्रूण हत्या पर लिखे प्रथम गोयल के स्लोगन को क्रमश: पहला, दूसरा तथा तीसरा स्थान मिला। डिबेट में दहेज प्रथा पर राजकीय हाई स्कूल पन्नीावला रूलदू को सराहा गया। जिसे विद्यालय की सुमन तथा रमनदीप कौर ने पेश किया था। दूसरे स्थान पर एनपीएस की संवैधानिक मूल्यों वाली डिबेट रही। जिसे ममता तथा हरवीर कौर ने पेश किया था। भाषण प्रतियोगिता में एनपीएस की क्षमा चित्रा पहले, स्वामी विवेकानंद स्कूल की हरमन दूसरे, नेहरू सीनियर सैकेंडरी की शक्ति ने तृतीय स्थान पाया। कविता पाठ प्रतियोगिता में एचपीएस शेरगढ़ की सुखजीवन कौर, आर्य विद्या मंदिर की पूजा, नेहरू सीनियर सैकेंडरी स्कूल की मुस्कान तथा एनपीएस की क्षमा चित्रा ने क्रमश: पहला, दूसरा तथा तीसरा स्थान अर्जित किया। शब्द सुनाने (डिकलामेशन) में सीएम डीएवी की प्रतिभा को पहला स्थान मिला।
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के राहुल एंड ग्रुप की ओर से नशा, कन्या भ्रूण हत्या तथा भ्रष्टाचार पर आधारित स्किट पर खूब तालियां बजी। इस स्किट को पहला स्थान मिला। दूसरे स्थान पर राजकीय हाई स्कूल मौजगढ़ की मनप्रीत एंड ग्रुप को दूसरा, नेहरू सीनियर सैकेंडरी स्कूल के बलराज एंड ग्रुप को तीसरा स्थान मिला। पावर प्वाईंट प्रदर्शनी में नेहरू सीनियर सैकेंडरी स्कूल के मुस्कान सिंह को पहला, एनपीएस की क्षमा चित्रा को दूसरा तथा राजकीय सीनियर सैकेंडरी स्कूल के डिंपल को तीसरा स्थान मिला। विशेष बच्चों पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म खिलते फूल पर आयोजक स्कूल अपनीत को सराहा गया। इस डॉक्यूमेंट्री में विशेष बच्चों को आने वाली दिक्कतों को मंच पर उतारा गया। भारतीय संविधान में ऐसे बच्चों को मिले अधिकार भी बताये गये। यह डॉक्यूमेंट्री पूरे कार्यक्रम की शान बनी। दूसरे स्थान पर नेहरू सीनियर सैकेंडरी स्कूल की मनदीप कौर रही, तीसरा स्थान डीएवी के पारस को मिला।
इससे पूर्व प्रतियोगिता का शुभारंभ बीईओ संत कुमार ने किया। जबकि अध्यक्षता प्रिंसीपल सुरजीत सिंह मान ने की। प्रतियोगिता में खंड के 25 विद्यालयों के दो सौ विद्यार्थियों ने भाग लिया। निर्णायक मंडल की भूमिका अविनाश भारद्वाज, दिलबाग विर्क, यशपाल सिंह, विजेंद्र सिंह, जगदीप नागपाल, सुभाष पटीर, गुरविंद्र पन्नू, हरजीत सिंह, सुनीता रानी, जसविंद्र कौर ने निभाई। मंच का संचालन आयोजक विद्यालय की अंग्रेजी प्रवक्ता नवजोत ऋषि ने बखूबी निभाया।

कोई टिप्पणी नहीं: