युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

22 नवंबर 2014

अतिक्रमण हटाने आई टीम ने हाथ जोड़े, धरना दिया

डबवाली (लहू की लौ) अतिक्रमण के खिलाफ हल्ला बोल अभियान के तहत सब्जी
मंडी क्षेत्र से रेहडिय़ों को गौशाला के नजदीक शिफ्ट करने के लिये शुक्रवार को नगर परिषद टीम ने गांधीगिरी का सहारा लिया। अतिक्रमण हटाने आई टीम ने हाथ जोड़कर सब्जी मंडी के भीतर रेहडिय़ों को हटाया, दुकानों के बरामदे में लगी फल/सब्जियों को भीतर करवाकर बरामदे खाली करवाये।
सुबह करीब 11 बजे नगर परिषद के एमई जयवीर डुडी, सफाई निरीक्षक अविनाश सिंगला तथा भवन निरीक्षक सुमित ढांडा सब्जी मंडी क्षेत्र में रेहडिय़ां हटाने के लिये पहुंचे। टीम सदस्यों ने फल/सब्जी विक्रेताओं के आगे हाथ जोड़कर उन्हें निर्धारित जगह पर चलने के लिये कहा। रेहडिय़ां खुद-ब-खुद हटना शुरू हो गईं। इसके बाद सब्जी मंडी के बरामदों में लगी फल/सब्जी को भीतर करने के लिये टीम ने दुकानदारों के आगे हाथ जोड़े। किसी दुकानदार ने सामान भीतर नहीं किया तो परिषद कर्मचारी खुद ही सामान उठाकर भीतर रखने लगे। सब्जी मंडी के बाहर बरामदों में रखे सामान को भी हटाया गया। हाथ जोडऩे के बाद भी जब दुकानदारों ने अपना सामान भीतर नहीं किया तो नप कर्मी दुकान पर धरना देकर बैठ गये। बिना दुकानदार से कुछ बोले वहीं बैठे रहे। जिस पर दुकानदार ने सामान भीतर कर लिया। ऐसा करीब एक दर्जन दुकानों पर हुआ।
भीतर वालों को न छेड़ो
सब्जी मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने कहा कि सब्जी मंडी के भीतर रेहड़ी लगाने वालों को नप कुछ न कहे। जिस पर अविनाश सिंगला ने स्पष्ट किया कि रेहड़ी लगेंगी तो एक जगह पर। सब्जी मंडी के भीतर या बाहर वाली बात नहीं। प्रशासन ने जो जगह निर्धारित की है, रेहडिय़ां वहीं जाएंगी।
गुरूद्वारा मार्किट में चलाया अभियान
सब्जी मंडी के साथ-साथ उपरोक्त टीम ने गुरूद्वारा मार्किट सहित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के सामने भी अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया। इस दौरान टीम ने दुकानदारों को अपना सामान भीतर करने की सलाह दी। टीम ने दुकानदारों के आगे हाथ जोड़कर सहयोग करने का आह्वान किया।

अतिक्रमण के खिलाफ अभियान जारी
रेहडिय़ां लगाने के लिये जगह निर्धारित की गई है। शुक्रवार को निर्धारित जगह पर कुछ रेहडिय़ां लगी। खरीददारी करने के लिये लोग भी आये। अतिक्रमण के खिलाफ अभियान जारी है। किसी को उपरोक्त क्षेत्र में रेहड़ी लगाने की इजाजत नहीं दी जायेगी।
-जयवीर डुडी, एमई,
नगर परिषद, डबवाली

कोई टिप्पणी नहीं: