युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 मई 2011

लाडवा में लहलहाएंगे इजराईली आम

डबवाली (लहू की लौ) इंडो इजरायल प्रोजेक्ट के तहत बनी राजकीय बाग एवं नर्सरी, गांव मांगेआना की तर्ज पर जिला कुरूक्षेत्र के लाडवा में इजराईली आम झूलेंगे। हरियाणा बागवानी विभाग इसके लिए मसौदा तैयार करने में जुट गया है। इजरायली साईट्रस एक्सपर्टस मिस्टर सिमोन होल्टजमैन तथा डूबी राबेर ने बुधवार को इंडो-इजरायल प्रोजेक्ट के तहत गांव मांगेआना में स्थापित की जा रहे राजकीय बाग एवं नर्सरी का अवलोकन किया। मौका पर उपस्थित प्रदेश के बागवानी अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
साईट्रस विशेषज्ञों ने अधिकारियों को साईट्रस पौधों के लिए से बेहतर उपज लेने के टिप्स बताते हुए इन पौधों के लिए कैसे सिंचाई की जाती है, कैसे स्प्रे की जाती है, इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डबवाली क्षेत्र और इजरायल का वातावरण लगभग मिलता-जुलता है। विशेषज्ञों ने बताया कि इंडो-इजरायल प्रोजेक्ट के तहत राजकीय बाग एवं नर्सरी में किए जा रहे इजरायली वरायटी के ट्रायल सही दिशा में जा रहा है।
उन्होंने अधिकारियों को सावधान करते हुए कहा कि सिंचाई करते समय पौधों के तनों में पानी अधिक समय तक नहीं रखा जाना चाहिए। अगर पौधों के तनों में पानी अधिक समय तक रहेगा तो उसको फाइटोपथोरा नामक बीमारी हो सकती है। जिससे पौधा जल जाएगा। उन्होंने राय दी कि पौधे पर स्प्रे प्राय: शाम को 4 बजे के बाद की जानी चाहिए। चूंकि उस समय कीट भोजन लेने के लिए पौधे के ऊपरी भाग पर आ जाते हैं। स्प्रे ऐसी हालत में कीटों पर अधिक प्रभावशाली साबित होती है।
इजरायली विशेषज्ञों ने तापमान की वृद्धि होने पर पौधे को कैसे जीवित रखा जा सकता है, इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पौधे पर गडलिंग करनी चाहिए। उन्होंने गडलिंग को विस्तार से बताया कि इस पद्धति में पानी की कमी को पूरा करने के लिए विकसित पौधे के तने के छिलके को उतार दिया जाता है। उन्होंने यह भी बताया कि मांगेआना नर्सरी में ट्रायल के तौर पर लगाई गई साईट्रस की इजरायली वरायटी मिखेल अगर चल निकली तो लोग हिंदुस्तानी किन्नू को बाय-बाय कह देंगे।
इस मौके पर उपस्थित बागवानी विभाग हरियाणा के फ्रूट विशेषज्ञ लक्ष्मी नारायण शर्मा ने बताया कि गांव मांगेआना की तर्ज पर जिला कुरूक्षेत्र के लाडवा में 25 एकड़ भूमि पर इजरायली आम की बुआई की जाएगी। चूंकि वहां की जलवायु इजरायली आम के लिए उपयुक्त है। मांगेआना नर्सरी में लगे इजरायली आम के पौधों को सीमित किया जा रहा है। उनके अनुसार योजना पर कार्य शुरू कर दिया गया है। लाडवा में साल 2012 में इजरायली आम के पौधों का रोपण कर दिया जाएगा।
इस अवसर पर बागवानी विभाग हरियाणा के ज्वाईंट डायरेक्टर डॉ. हरजोत सिंह सैनी, जिला बागवानी अधिकारी आत्मप्रकाश, राजकीय बाग एवं नर्सरी मांगेआना के प्रोजेक्ट ऑफिसर पवन कुमार, सलाहकार डॉ. आरके अरोड़ा उपस्थित थे।

1 टिप्पणी:

VJ ने कहा…

अन्य इंडिया इजरायल प्रोजेक्ट्स की जानकारी के लिए इस फेसबुक पेज को देखें:http://www.facebook.com/IsraelHindi?sk=info#!/IsraelHindi?sk=wall