युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 मई 2011

नशे के लिए मां को मारा

डबवाली। नशे की तलब पूरी करने के लिए पैसे नहीं मिले तो अपनी की मां को तेजधार से वार कर मौत के घाट उतार दिया। सुबह जब होश आने पर मां के शव को देख कर अपनी करतूत पर शर्मिंदा हो खुद को भी जिंदा जलाने का प्रयास किया। लेकिन आस पड़ोस के लोगों से आग को बुझा कर उसे काबू कर लिया। यह लोमहर्षक घटना उपमंडल के गांव मलिकपुरा की है। मृतक महिला की पहचान दान कौर के रूप में की गई है। जबकि उसका बेटा बोहड़ सिंह गांव में चौकीदार के तौर पर तैनात है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर हत्या के दौरान प्रयोग किये गये तेजधार हथियार को बरामद कर लिया है। हत्या की सूचना मिलते ही डबवाली के डीएसपी बाबू राम ने मौके पर पहुंच कर घटनास्थल का जायजा लिया।
पुलिस को दिये ब्यान में मलिकापुरा निवासी लीला राम ने बताया कि उसका चचेरा भाई बोहड़ सिंह जो कि गांव में चौकीदार के पद पर तैनात है और नशे का आदि है। नशे को लेकर वह अक्सर में घर में लड़ाई-झगड़ा करता है। कुछ दिन पूर्व उसकी चाची दान कौर को पैंशन मिली थी। बोहड़ सिंह की पत्नी सिमरजीत कौर दो दिन पहले अपनी बीमार माँ का पता लेने के लिए अपने मायके भीटीवाला गांव गई हुई थी। उन्होंने बताया कि कल शाम बोहड़ सिंह नशे से चूर था और नशे की लत पूरी करने के लिए वह अपनी मां से पेंशन में मिले रुपये की मांग करने लगा जो कि पूरी न होने पर उससे झगड़ा करने पर उतारू हो गया। उनके झगड़े को देख कर वे अपने भाई के घर चले गये।
उन्होंने बताया कि सुबह उन्होंने आ कर देखा कि उनकी चाची दान कौर एक कोने पर मृत पड़ी थी और घर में पड़ी काटन स्टीक को आग लगा कर बोड़ सिंह खुद को जलाने का प्रयास कर रहा था। उन्होंने तुरंत आग को बुझा बोड़ सिंह को बाहर निकाला लेकिन तब तक उसके पैर और शरीर का कुछ अन्य भाग झुलस चुका था। ओढां पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम करवाने के उपरांत उसे उसके वारिसों को सौंप दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं: