युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

25 जनवरी 2011

प्रदर्शनों के नाम रहा सोमवार


डबवाली (लहू की लौ) सोमवार का दिन प्रदर्शनों के नाम रहा। हरियाणा खेत मजदूर यूनियन ने बीपीएल परिवारों की समस्याओं को लेकर यहां एसडीएम कार्यालय घेरा। वहीं नगरपालिका के सफाई कर्मचारियों तथा लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर अलग-अलग जगह नारेबाजी कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।
हरियाणा खेत मजदूर यूनियन जिला सिरसा के अध्यक्ष कामरेड गणपत राम की अगुवाई में बीपीएल कार्ड धारकों हेतराम, हुक्मचंद, कौशल्या देवी, मूर्ति देवी, चम्पा देवी, महेन्द्र कौर, कृष्णा देवी, कुलदीप कौर, हंसराज, मंगल सैन, भगवान दास, चुन्नी लाल बगैरा ने एसडीएम डॉ. मुनीश नागपाल के कार्यालय के समक्ष धरना दिया। हरियाणा सरकार के विरूद्ध नारेबाजी की जोरदार प्रदर्शन किया। करीब पांच घंटे के धरने के बाद मुख्यमंत्री के नाम नायब तहसीलदार हरिओम बिश्नोई को अपनी मांगों के समर्थन में ज्ञापन सौंपा। कामरेड गणपत राम के अनुसार सरकार की ओर से बीपीएल चुने गए परिवारों के राशन कार्डों पर मुहर लगे करीब डेढ़ साल हो चुका है। लेकिन इसके बावजूद बीपीएल परिवार सरकार की ओर से उन्हें मुहैया करवाई जाने वाली सुविधाओं का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। उन्होंने मांग की कि मुहर लगे बीपीएल कार्ड धारकों को सुविधाएं प्रदान की जाएं।
इधर नगरपालिका के सफाई कर्मचारियों ने हरियाणा नगरपालिका सफाई कर्मचारी संघ के आह्वान पर अपनी मांगों के समर्थन में काले बिल्ले लगाकर और झाडू उल्टे करके नपा की सफाई शाखा के समक्ष प्रदेश सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करके प्रदर्शन किया। डबवाली सफाई कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष संजय डुल्गच ने बताया कि 6वां वेतन आयोग लागू हुए को काफी समय बीत चुका है। लेकिन नगरपालिका के सफाई कर्मियों को उनका बकाया एरियर अभी तक नहीं मिला। इतना ही नहीं कर्मचारियों को हर माह मिलने वाली तनख्वाह में से पीएफ काट लिया जाता है। जबकि काटा गया पीएफ आज तक उनके खातों में नहीं आया। इसके अतिरिक्त संघ की प्रदेश ईकाई ने कर्मचारियों की 17 सूत्री मांगों के संबंध में एक ज्ञापन भी प्रदेश सरकार का दिया है। जिस पर सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर सरकार ने कर्मचारियों की मांगे जल्द पूरी न की तो संघ के आह्वान पर आंदोलन को ओर तेज कर दिया जाएगा। इस अवसर पर शाम लाल चौहान, सुनील कुमार, राजकुमार, भीम सिंह, ओमप्रकाश बागड़ी, संतोष पुहाल, दर्शना देवी, बाला रानी, लक्ष्मी देवी, कमला देवी, मंजू देवी सहित काफर संख्या में नगरपालिका के सफाई कर्मचारी उपस्थित थे।
उधर लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों ने उपमण्डल अभियंता कार्यालय के समक्ष एक गेट मीटिंग के दौरान हुड्डा सरकार के विरूद्ध नारेबाजी करके अपना रोष जताया। मीटिंग की अध्यक्षता पवन कुमार शर्मा ने की। बैठक को जयवीर शर्मा महासचिव महासंघ, राजकुमार प्रांतीय उपप्रधान ने संबोधित किया। वक्ताओं ने कहा कि कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, निजीकरण बंद करने तथा नियमित भर्ती करने आदि मांगों को लेकर हरियाणा कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष रमेश शर्मा तथा महासचिव वीर सिंह कर्मचारियों की मांगों के लिए पिछले कुछ दिनों से जींद में अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर डटे हुए थे। लेकिन 23 जनवरी रात को प्रदेश सरकार ने पुलिस बल के प्रयोग से कर्मचारी नेताओं को उठवा लिया। जिनका अभी तक कोई अता-पता नहीं है। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार कर्मचारियों की मांगे मान नहीं लेती, तब तक महासंघ का संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके पर कर्मचारी नेता रूप राम, सुभाष कुमार, हेमराज, पाल सिंह, तेजा सिंह, निहाल सिंह, जीत सिंह, रामअवतार, ओमप्रकाश शर्मा आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: