युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

25 जनवरी 2011

मारूति कार में आग लगी, दो झुलसे


डबवाली (लहू की लौ) सोमवार शाम को पटाखों की आवाज से मेन बाजार से जा रही एक मारूति कार को लगी आग से दुकानदारों में अफरा-तफरी मच गई। दुकानदार दुकानें छोड़ कर भाग खड़े हुए है। कार में सवार चार लोगों में से दो लोग इस आग का शिकार होकर झुलस गये।
प्रत्यक्षदर्शी दुकानदार मुकन्दलाल सिंगला, प्रशोत्तम ग्रोवर, महिन्द्र कुमार, सुनील कुमार ने बताया कि शाम को लगभग 4.30 बजे मेन बाजार से गुजर रही मारूति कार से पटाखे की आवाज आई। थोड़े ही समय बाद कार में एक और पटाखा चला और देखते ही देखते कार की डिग्गी में आग धधकने लगी। आग को देख कर बाजार में हड़कम्प मच गया। आसपास के दुकानदार दुकानें छोड़ कर भाग खड़े हुए। कार में सवार लोग आनन फानन में कार से उतरने लगे तो दो लोग कार में फंस गये। कार में फंसे लोगों को देख कर उन्होंने हौसला करके अन्य लोगों की मदद से मिट्टी डाल कर आग पर नियंत्रण पाया। इस दौरान दो लोग आग से झुलस गये। जिन्हें तुरन्त निकटवर्ती प्राईवेट अस्पताल ले जाया गया।
झुलसने वालों में बाबा शंकर मुनि (40), निर्मल सिंह (35) निवासीगण देसूजोधा के नाम शामिल हैं। बाबा शंकर मुनि ने बताया कि  डबवाली उपमंडल के गांव देसूजोधा में उनका बाबा पाल दास के नाम पर डेरा है और डेरे में 25 जनवरी को श्री मद्भागवत गीता का आरम्भ करना था और इसी को लेकर वह गांव के निर्मल सिंह, सीता मैम्बर के साथ नरेन्द्र सिंह की मारूति कार पर सोमवार बाजार से सामान खरीदने के लिए आये थे। धूप, कपड़ा, नारियल बगैरा लेकर जब वह वापिस गांव लौट रहे थे तो अचानक सब्जी मंडी के बाहर मेन बाजार में उनकी कार में आग लग लग गई। सीता मैम्बर तथा नरेन्द्र सिंह तो कार से बाहर निकल गये लेकिन वह तथा निर्मल सिंह कार में फंस गये। निर्मल सिंह की टांगें तथा बाबा शंकर मुनि का मुंह आग से झुलस गया। बाबा शंकर मुनि ने बताया कि कार में सिलेंडर लगा हुआ था और अचानक सिलेंडर में आग लगने से यह घटना घटित हुई। सूचना पाकर मौका पर डबवाली नगरपालिका फायर ब्रिगेड भी पहुंची लेकिन तब तक आग पर काबू पाया जा चुका था।
गोल बाजार पुलिस चौकी प्रभारी एएसआई कृष्ण कुमार, थाना शहर पीसीआर पर एसआई भगत राम, एएसआई महावीर सिंह सूचना पाकर पहुंचे और उन्होंने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

कोई टिप्पणी नहीं: