युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

25 जनवरी 2011

तीस लाख की अफीम के साथ धरा


औढ़ां (जितेन्द्र गर्ग) जिला पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र गुप्ता के निर्देशानुसार औढ़ां पुलिस ने मादक पदार्थों की तस्करी पर शिकंजा कसते हुए एक बड़ी सफलता प्राप्त की है। जिसके तहत एक व्यक्ति को 33 किलो 200 ग्राम अफीम व जीप सहित गिरफ्तार किया है। पकड़ी गई अफीम का बाजार मूल्य करीब 30 लाख रूपए है।
जिला पुलिस कप्तान सत्येंद्र गुप्ता ने बताया कि रविवार रात को गुप्त सूचना मिली कि एक व्यक्ति जीप नंबर आरजे-23यूए-0628 पर अफीम लेकर सिरसा की तरफ जा रहा है। सूचना के आधार पर थाना प्रभारी हीरा सिंह के नेतृत्व में ओढां थाना के सहायक उपनिरीक्षक जगदीश, ओमप्रकाश, सुभाष, ओमप्रकाश, मुख्य सिपाही दाताराम, सिपाही जगदीश व दयानंद पर आधारित दो पुलिस पार्टियां गठित करके टी प्वाइंट सालमखेड़ा व घुकांवाली पर तैनात कर दी गई। इसी दौरान डबवाली की ओर से एक जीप आती दिखाई दी और सालमखेड़ा टी प्वाइंट पर पुलिस ने उसे रूकने का इशारा किया। लेकिन चालक ने जीप नहीं रोकी, पुलिस ने जीप का पीछा करते हुए आगे वाले टी प्वाइंट पर इसकी सूचना दी। जीटी रोड पर स्थित घुकांवाली टी प्वाइंट पर पुलिस ने जीप को रोक लिया और शक के आधार पर उसकी तलाशी लेनी चाही तो जीप चालक ने तलाशी देने से इंकार कर दिया।
औढ़ां थाना प्रभारी ने इसकी सूचना तुरंत डीएसपी डबवाली बाबू लाल को दी। डीएसपी ने मौके पर आकर जीप की तलाशी ली तो जीप की अगली सीट के नीचे एक बॉक्स में अफीम के तीन-तीन किलो के 11 पैकेट बरामद हुए। पूछताछ करने पर व्यक्ति ने अपनी पहचान अमनदीप पुत्र गुरनाम सिंह निवासी खड़क सिंह वाला जिला मानसा पंजाब के रूप में करवाई।
पुलिस अधीक्षक के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह अफीम राजस्थान से लेकर आया है और गांव रघुआना निवासी कुलदीप सिंह उर्फ कमलजीत पुत्र मुखत्यार सिंह को देने जा रहा था। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कुलदीप के खिलाफ भी अभियोग दर्ज किया गया है। शीघ्र ही उसे काबू कर लिया जाएगा। पकड़े गए आरोपी को उपमण्डल न्यायिक दण्डाधिकारी डबवाली महावीर सिंह की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आरोपी को चार दिन के पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए।

कोई टिप्पणी नहीं: