युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

07 जनवरी 2011

चोर गिरोह का पर्दाफाश

डबवाली। जिला की सीआईए सिरसा पुलिस ने चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन आरोपियों को काबू किया है। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों से हुई चोरी की करीब दो लाख रूपए की संपत्ति भी बरामद कर ली है। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों से पुछताछ कर शहर की कोर्ट कालोनी, तेलियान वाली गली व द्वारकापुरी में हुई चार चोरियों की गुत्थी सुलझाने में सफलता हासिल की है। सीआईए सिरसा पुलिस ने आरोपियों से पुछताछ के दौरान उनके दो अन्य साथियों की भी पहचान कर ली है, जिन्हे शीध्र दबिश देकर गिरफ्तार किया जाएगा। विस्तृत जानकारी देते हुए सीआईए सिरसा के प्रभारी निरीक्षक किशोरी लाल ने बताया कि सिरसा के पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार गुप्ता ने शहर सिरसा में हुई चोरी की वारदातों का जांच करने का जिम्मा उन्हें सौंपा था। उन्होंने बताया कि घटनाओं की गुत्थी सुलझाने के लिए सहायक उपनिरीक्षक ओमप्रकाश, तरसेम लाल व रण ङ्क्षसह पर आधारित स्टाफ की कई टीमों का गठन कर महत्वपूर्ण सुराग जुटाए गए।
सीआईए प्रभारी ने बताया कि महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए सर्वप्रथम घटना के दो आरोपियों संजय उर्फ संजू पुत्र लोकनाथ निवासी प्रीतनगर सिरसा व शकीलखान पुत्र अमीनखान निवासी कीर्तीनगर को 2 जनवरी को शहर सिरसा क्षेत्र से काबू किया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों से पूछताछ पर इनके तीसरे साथी रवि पुत्र राजकुमार निवासी कीर्तिनगर की पहचान हुई, जिसे 3 जनवरी को सिरसा क्षेत्र से काबू किया गया। सीआईए प्रभारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों को 3 जनवरी को सिरसा अदालत में मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एनके सिंघल की अदालत में पेश कर पूछताछ हेतू तीन दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया।
उन्होने बताया कि रिमांड अवधि के दौरान आरोपियों की निशानदेही पर करीब दो लाख रूपए की चोरीशुदा संपत्ति बरामद कर ली है, जिसमें नकदी तथा सोने के जेवरात शामिल है। उन्होंने बताया कि आरोपियों के दो अन्य साथियों की भी पहचान कर ली गई है, जिनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: