युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

20 जनवरी 2011

बेवफाई ने ली मनप्रीत की जान

डबवाली (लहू की लौ) गांव लखुआना के पास अद्र्धनग्न अवस्था में माईनर से करीब एक माह पूर्व मिले युवती के शव की पहचान पटियाला की खालसा कलोनी निवासी मनप्रीत कौर पुत्री निर्मल सिंह महंत के रूप में हुई है।
23 दिसंबर 2010 को थाना सदर पुलिस को गांव लखुआना के पास गांव गोबिंदगढ़ के नजदीक डबवाली माईनर से एक युवती का शव मिला था। युवती ने कीमती बूट और कपड़े पहने हुए थे। लेकिन उसका छाती का भाग नंगा था। ब्रा गले में लटकी हुई थी। इस मामले की जांच थाना सदर के एसआई सीता राम के पास थी। पुलिस ने लड़की की पहचान ढूंढने के लिए हिसार और बठिंडा तक खाक छानी थी। लेकिन पुलिस को इसकी कोई जानकारी नहीं मिली। पुलिस ने हरियाणा और पंजाब के सभी कंट्रोल रूमों में इस शव की सूचना दी थी और साथ में फोटो भी भेजे थे।
फोटो के आधार पर सूचना पाकर पटियाला की खालसा कलोनी के निवासी शमेशर कौर, रूपिंद्र कौर, अच्छर सिंह आदि मंगलवार को थाना सदर डबवाली पहुंचे। उन्होंने लड़की के पहने कपड़ो, बूट और फोटो के आधार पर उसकी पहचान मनप्रीत कौर के रूप में की। पुलिस को शमशेर कौर ने बताया कि यह उसकी बेटी है। जो पटियाला के जगदेव सिंह संधू बीएड कॉलेज में बतौर बीएड छात्रा पढ़ती थी। उसने यह भी बताया कि उसकी बेटी का एक लड़के के साथ लव चलता था।
इस संबंध में मनप्रीत कौर के भाई अच्छर सिंह की शिकायत पर थाना सिविल लाईन पटियाला में उसकी बेटी को मरने के लिए मजबूर करने के आरोप में दफा 306 आईपीसी के तहत एक केस भी दर्ज करवाया गया था। जोकि मनप्रीत कौर के मोबाइल पर अंतिम कॉल के संदेह पर दर्ज करवाया गया था। अच्छर सिंह ने अपनी शिकायत में पटियाला पुलिस को बताया था कि उसकी बहन मनप्रीत कौर का अमलोह (फतेहगढ़ साहिब) निवासी पलविंद्र सिंह के बेटे गुरविंद्र सिंह के साथ लव चल रहा था। लेकिन मनप्रीत को जब पता चला कि गुरविंद्र शादीशुदा है और गुरविंद्र ने उसका यौन शोषण करने के बाद उससे शादी करवाने से इंकार कर दिया, तो उसने आत्महत्या कर ली।
पटियाला पुलिस के अनुसार गुरविंद्र सिंह एलआईसी एजेंट है और उसे अच्छर सिंह की शिकायत पर मनप्रीत कौर को मरने के लिए मजबूर करने के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। इस समय वह जेल में है।
एसआई सीता राम ने उपरोक्त पुष्टि करते हुए बताया कि फोटो और बूट के आधार पर उक्त शव की पहचान पटियाला की शमशेर कौर ने अपनी पुत्री मनप्रीत कौर के रूप में की।

कोई टिप्पणी नहीं: