युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

16 अप्रैल 2012

काम बंद, बवाल शुरू


सकताखेड़ा और लोहगढ़ के ग्रामीणों ने रोका संगरिया मार्ग, तीन घंटे तक ठप रही आवाजाही
डबवाली (लहू की लौ) डबवाली-संगरिया रोड़ का निर्माण कार्य ठप कर देने से नाराज गांव सकताखेड़ा तथा लोहगढ़ के ग्रामीणों ने शनिवार को मार्ग जाम कर दिया। रोड़ पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई। मौका पर पहुंचे उपमण्डलाधीश तथा पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर के अधिकारियों से काम शुरू होने का आश्वासन मिलने के बाद ग्रामीण शांत हुए। तीन घंटे बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हुई।
गांवों में हुई मुनादी
संगरिया मार्ग का निर्माण कार्य रोके जाने के विरोध में आज सुबह गांव सकताखेड़ा तथा लोहगढ़ के धार्मिक स्थलों में मुनादी हुई। ग्रामीणों को गांव सकताखेड़ा के नजदीक संगरिया मार्ग पर इक्ट्ठे होने के लिए कहा गया। बाईक, ट्रेक्टर-ट्रालियों, कारों में सवार होकर सैंकडों ग्रामीण सुबह 10.00 बजे डबवाली-संगरिया मार्ग पर पहुंचे। वाहनों को आड़ा-तिरछा लगाकर मार्ग जाम लगा दिया। मार्ग रोकने के लिए गिरे हुए पेड़ को घसीटकर सड़क के बीचों-बीच लगा दिया।
ग्रामीणों ने बगैर शोर-शराबा और बिना नारेबाजी किए जाम लगाए रखा। आधे घंटे बाद सदर थाना के एसआई बचन सिंह, एसआई राजेंद्र सिंह, एएसआई भूप सिंह पर आधारित पुलिस पार्टी मौका पर पहुंची। पुलिस पार्टी ने ग्रामीणों को समझाने-बुझाने का प्रयास किया। लेकिन जाम लगाए ग्रामीणों ने पुलिस से सवाल किया कि सड़क का निर्माण पुन: कब शुरू होगा?, सड़क कितने दिनों में बनकर तैयार हो जाएगी? जवाब देने में असमर्थ पुलिस पीछे हट गई।
दोपहर करीब 12 बजे नायब तहसीलदार अनिल कुमार मौका पर पहुंचे। ग्रामीणों ने पुन: उक्त दोनों सवाल उन पर दाग दिए। नायब तहसीलदार भी सवालों का जवाब न दे पाए। उन्होंने उपरोक्त सवालों को उपमण्डलाधीश सुभाष श्योराण के समक्ष रख दिया।
दोपहर बाद करीब 1 बजे उपमण्डलाधीश सुभाष श्योराण, पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर के एक्सीयन एमएस सांगवान, डीएसपी पूर्ण चन्द पंवार मौका पर पहुंचे। एक्सीयन एमएस सांगवान ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि अगले 20 दिनों में संगरिया निर्माण का कार्य पुन: शुरू हो जाएगा। वाहन गुजरते समय धूल न उड़े, इसके लिए निरंतर पानी गिराया जाएगा। अधिकारियों से आश्वासन मिलने पर ग्रामीणों ने तीन घंटे बाद जाम हटाया।
फसलें हो रही हैं खराब
ग्रामीण जगरूप सिंह, बलकरण सिंह, गुरप्रीत सिंह कुलार, लखविंद्र सिंह लक्खा, बेअंत सिंह, सुखबीर सिंह, मेवा सिंह, मन्दर सिंह, जंटा सिंह, बलौर सिंह, सुनील कुमार, अजय बिश्नोई, विक्रमजीत के अनुसार संगरिया रोड़ का निर्माण कार्य रूकने से उन्हें परेशानी आ रही है। धूल की वजह से सड़क किनारे पड़ती उनकी फसलें बर्बाद हो गई हैं। किन्नू के बागों को सर्वाधिक नुक्सान पहुंचा है। बिछाया गया पत्थर उछलकर उन्हें घायल कर रहा है। 20 दिन के भीतर अगर सड़क का निर्माण पुन: शुरू न हुआ तो मार्ग दोबारा जाम कर दिया जाएगा।
पैसे न देने पर रोका काम
पीडब्ल्यूडी बीएण्डआर के एक्सीयन एमएस सांगवान के अनुसार ठेकेदार को फाईनैंस क्राईसिज आ गया था। उसे मार्च माह में भुगतान नहीं हो पाया था। चूंकि बजट अप्रैल में आता है। पैसे न मिलने के कारण ठेकेदार ने काम बंद कर दिया था। बजट आ गया है। भुगतान करवाकर ठेकेदार से काम शुरू करवाया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: