युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 जनवरी 2011

गणतंत्र दिवस पर आतंकवादी घटना के मद्देनजर रेलवे स्टेशनों पर चौकसी

डबवाली (लहू की लौ) राष्ट्रीय त्यौहारों के निकट मिलने वाली आतंकवादी संगठनों की धमकियों के मद्देनजर गणतंत्र दिवस के चलते प्रदेश के सभी रेलवे पुलिस थानों तथा चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। रेलवे स्टेशनों पर गश्त बढ़ाने के आदेश भी दे दिए गए हैं।
ये शब्द एआईजी ट्रेफिक तथा एसपी रेलवे अम्बाला केंट डॉ. राजश्री ने जीआरपी पुलिस चौकी डबवाली का वार्षिक निरीक्षण करने के बाद इस संवाददाता से बातचीत करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि आतंकवाद तथा असामाजिक तत्वों से निबटने के लिए स्वेट टीम भी तैयार की गई है। जिन्हें जरूरत पडऩे पर संबंधित रेलवे स्टेशनों पर भेजा जाता है। उनके अनुसार अम्बाला, दिल्ली तथा चण्डीगढ़ रेलवे ट्रेक पर होने के कारण अति संवेदनशील माना जाता है।
एसपी राज श्री के अनुसार मिर्चपुर कांड के मद्देनजर जींद तथा हिसार में सुरक्षा प्रबंध अधिक कड़े किए जा रहे हैं। हरियाणा सरकार से इसके लिए दो कंपनियों की मांग की गई है। लेकिन इनमें से एक कंपनी उन्हें दी जा चुकी है। जिसे जींद में नियुक्त किया गया है। जबकि हिसार के लिए दूसरी कंपनी जल्द मिलने की उम्मीद है। कंपनियों के लिए दो डीएसपी भी मांगे गए हैं।
एक सवाल के जवाब में एसपी ने कहा कि हरियाणा में किसी भी रेलवे ट्रेक पर किसी भी व्यक्ति को कानून हाथ में लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी और न ही तोडफ़ोड़ करने वालों और गाडिय़ों को रोकने वालों को बख्शा जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को अपनी मांगों के लिए प्रजातांत्रिक ढंग से शांतिपूर्वक आंदोलन करना चाहिए। इसके लिए उन्हें डीसी या अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष अपनी मांग को रखना चाहिए। लेकिन गाडिय़ों को रोकना और रेलवे ट्रेक को उखाडऩा उचित नहीं है। इससे जो लोग दूर जाने वाले होते हैं या फिर बीमार होते हैं या फिर किसी साक्षात्कार आदि के लिए गाडिय़ों पर उन्हें जाना होता है, उन्हें अनावश्यक रूप से देरी व दु:ख होता है। उनके अनुसार किसी प्रकार का अमानवीय कृत्य प्रजातंत्र में उचित नहीं है।
एसपी राज श्री ने इस बात को स्वीकार किया कि हरियाणा के रेलवे स्टेशनों के नजदीक जर्जर हालत में बनी जीआरपी पुलिस चौकियों का आधुनिकरण किया जाएगा और जीआरपी को भी आधुनिक हथियारों से लैस करने की योजना है। उनके अनुसार रेलवे स्टेशनों पर अत्याधिक सतर्कता बरतने के लिए रेलवे वार्डन को अधिक प्रभावी बनाया जाएगा। उनके अनुसार इस समय प्रदेश के विभिन्न जीआरपी थानों व चौकियों में 600 कर्मचारियों की कमी है। कमी को पूरा करने के लिए सरकार से अनुरोध किया गया है और इस समस्या को डीआईजी की बैठक में उठाया भी गया है। उनके अनुसार जीआरपी को 229 महिला कर्मचारी मिलने की संभावना है, जिनकी भर्ती हाल ही में फरीदाबाद में की गई है।
इस अवसर पर जीआरपी थाना सिरसा के प्रभारी एसआई बलदेव राज शर्मा, डबवाली जीआरपी चौकी के प्रभारी एएसआई सुरेश कुमार, इकबाल सिंह, ऐलनाबाद के प्रभारी राजेन्द्र प्रसाद उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: