युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 अगस्त 2010

विस्फोट से दहशत का माहौल

डबवाली (लहू की लौ) स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए हरियाणा में रेड अलर्ट चल रहा है। लेकिन 12 अगस्त की रात को पुराना बस स्टैण्ड रोड़ पर हुए धमाके ने नगर में दहशत फैला दी। धमाका इतना जोरदार था कि एक किलोमीटर वर्ग क्षेत्र में इसकी गूंज सुनाई दी।
धमाका स्थल मै. हंसराज भूषण कुमार की सीनेटरी दुकान के पड़ौसी और पुराना बंस स्टैण्ड रोड़ के निवासी रिशव (26) ने बताया कि जैसे ही उन्होंने विस्फोट को सुना, तो उनके घर के सभी लोग दहल उठे और एकदम बाहर निकले। देखा कि सीनेटरी की दुकान में आग लगी हुई है और दुकान के बाहर खड़ी एक बाईक जल रही है। इसकी जानकारी देने के लिए वह स्वयं दुकान के मालिक राकेश कुमार के घर गया और उसे बुलाकर लाया। उसके अनुसार घटना करीब 10.55 मिनट की है।
घटना के दूसरे प्रत्यक्षदर्शी सोहन सिंह (57) ने बताया कि धमाके की आवाज सुनकर वह अपने घर से बाहर आया, तो देखा कि दो युवक राकेश की दुकान के पास से उसकी तरफ बढ़ रहे हैं। ये युवक एक-दूसरे को सहारा देकर उसके पास पहुंचे। जोकि खून से लथपथ थे। एक घायल युवक ने उससे कपड़ा मांगा। इसी दौरान एक व्यक्ति सफेद रंग के वाहन पर आया और दोनों घायलों को ले गया। दुकान के बिल्कुल पीछे स्थित कुएं वाली गली के निवासी रेशम सिंह (57) ने बताया कि वह अपने परिवार के साथ सो रहा था। रात को करीब 10.55 पर धमाका हुआ। उसे लगा जैसे उसके घर में धमाका हुआ है। वह घर की छत पर गया तो देखा कि वैद्य उत्तम चन्द वाली गली की एक दुकान से आग की लपटें निकल रही हैं।
घटना स्थल के पड़ौसी मनियारी के दुकानदार गुरनाम सिंह (55) ने बताया कि पड़ौसी सोहन सिंह से सूचना पाकर वह मौका पर पहुंचा। उसने देखा कि उसकी दुकान का शट्टर भी उखड़ा हुआ है। दुकान के भीतर दरारें आई हुई हैं।कुएं वाली गली के निवासी बलजिन्द्र सिंह (45) ने बताया कि धमाका बड़ा जबर्दस्त था। यूं लगा जैसे भूकंप आया है। वह अपने घर की छत्त पर जा चढ़ा। वैद्य उत्तम चंद वाली गली में आग की लपटें देखी। वह मौका पर गया तो देखा कि फायर ब्रिगेड आग बुझाने में लगी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं: