युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 मार्च 2010

मनरेगा मजदूर भड़के

डबवाली (लहू की लौ) मनरेगा में धांधली और काम न दिये जाने का आरोप लगाते हुए गांव अबूबशहर के सैंकड़ों मजदूरों ने सोमवार को बीडीपीओ डबवाली के कार्यालय के समक्ष जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में महिला मजदूर भी शामिल थीं। खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी से आश्वासन मिलने के बाद उग्र मनरेगा मजदूर शांत हुए।
मनरेगा मजदूर सुन्दर लाल, रमेश, सतपाल, जगवन्त, काला सिंह, जग्गा सिंह, रघुवीर, मिट्ठू, बलवीर, प्रीतो देवी, रूकमणि, रणजीत कौर, जीतो देवी, पारो आदि ने बताया कि मनरेगा योजना शुरू होने से आज तक उन्हें केवल तीन माह ही काम मिला है। मनरेगा मजदूरों ने सहायक पर खाली रजिस्टर पर अंगूठे लगावाये जाने का भी आरोप लगाया। मनरेगा मजदूरों ने हरियाणा सरकार तथा बीडीपीओ के खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर अपने गुस्से का इजहार किया। सहायक को हटाये जाने की मांग की।
आरोपों सम्बन्धी जब खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी डबवाली राम सिंह से पूछा गया तो उन्होंने उपरोक्त आरोपों को निराधार करार दिया। राम सिंह के अनुसार वे करीब एक वर्ष से डबवाली में बतौर बीडीपीओ कार्यरत हैं। इस अवधि के दौरान मनरेगा मजदूरों ने 5 जोहड़ों की सफाई की। जिस पर 3 लाख 78 हजार रूपये खर्च हुए। योजना के तहत तेजाखेड़ा माईनर की सफाई के लिए तीन दिन पूर्व ही 2 लाख 21 हजार रूपये जारी किये गये हैं। वाटर टैंकों की सफाई के लिए 2 लाख 50 हजार रूपये का अस्टीमेट तैयार किया गया है। जिस पर कार्य शीघ्र शुरू कर दिया जाएगा। मनरेगा मजदूरों की मांग के अनुसार जल्द ही ग्राम सभा की बैठक आमंत्रित की जाएगी। जिसमें सहायक को हटाने सम्बन्धी फैसला लिया जाएगा। मनरेगा का रिकॉर्ड ऑनलाईन है, जो कभी भी किसी भी व्यक्ति द्वारा चैक किया जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: