युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

30 मार्च 2010

शरारती तत्व ने तोड़ा उद्घाटन पत्थर

डबवाली (लहू की लौ) यहां की रामनगर कलोनी में हाल ही मेें कायाकल्प करके नये सिरे से विकसित किये गये लवकुश पार्क के उद्घाटन के संबंध में रविवार शाम को लगाये गये पत्थर को उद्घाटन के पूर्व ही किसी शरारती ने तोड़ डाला। प्रशासन ने इस मामले की जांच के आदेश देकर शरारती के खिलाफ कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये हैं।
प्राप्त जानकारी अनुसार एडीसी पंकज चौधरी ने डबवाली की रामनगर कलोनी में हाल ही में 9 लाख रूपये की लागत से तैयार करवाये गये लवकुश और राम पार्क का 29 मार्च को उद्घाटन करना था। इस संबंध में दोनों ही पार्कों में  उद्घाटन पत्थर लगाये थे। लेकिन लवकुश पार्क में रविवार शाम को लगाये गये उद्घाटन पत्थर को किसी शरारती ने रात को तोड़ दिया। इसकी जानकारी जैसे ही प्रशासनिक अधिकारियों को मिली तो उनमें हड़कम्प मच गया। आनन फानन में सोमवार सुबह नगरपालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन, एमई रमेश कम्बोज, टैक्स सुपरीडैन्ट रामनिवास मौका पर पहुंचे और उन्होंने टूटे हुए पत्थर को मिस्त्री से फिर से जुड़वाने का प्रयास किया। लेकिन सफलता नहीं मिली तो नये पत्थर के ऊपर कंप्यूटर से स्टीकर निकलवा कर उद्घाटन की रस्म पूरी की गई।
इस सन्दर्भ में नगरपालिका अध्यक्षा सिम्पा जैन से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि रात को 11 बजे इस शरारतपूर्ण कार्यवाही की जानकारी मिल गई थी। अधिकारियों को इस संबंध में अवगत करवा दिया गया। उन्होंने इस कार्यवाही को दुर्भावनापूर्ण बताते हुए कहा कि यह वार्ड नं. 11 में पार्क आता है। इस वार्ड में लवकुश पार्क को बने 36 वर्ष हो चुके हैं और इस दौरान कई पार्षद आये हैं लेकिन किसी ने भी पार्क की सुध नहीं ली। अब जबकि कांग्रेस की सरकार ने इन पार्कों की सुध ली तो कुछ शरारतियों को यह बर्दाश्त नहीं हुआ। उद्घाटन के समय एडीसी पंकज चौधरी से इस संवाददाता ने उद्घाटन पत्थर को तोडऩे वाले शरारतियों पर कार्यवाही के संबंध में पूछा तो उन्होंने हंस कर यह कहते हुए इस प्रश्न के उत्तर को टाल दिया कि अब पत्थर जुड़ चुका है।
वहीं पर मौजूद उपमंडलाधीश डॉ. मुनीष नागपाल ने इस प्रश्न के उत्तर में कहा कि वह मामले की जांच करवायेंगे और जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।
एमई रमेेश कम्बोज ने बताया कि लवकुश और राम पार्क में 5-5 प्रकार के झूले बच्चों के लिए लगाये गये हैं। जिन पर करीब 9 लाख रूपये खर्च आया है। जबकि 5 लाख रूपये और पार्क के बीच सीमेंट कंकरीट प्रीकास्ट टाईल व घास लगाने, लवकुश पार्क में शौचालय बनाने आदि पर खर्च किया जाना है यह राशि भी एडीसी कार्यालय से नगरपालिका के पास पहुंच चुकी है।

कोई टिप्पणी नहीं: