युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

25 दिसंबर 2010

स्कूल वैन पलटी, 9 बच्चे घायल

डबवाली (लहू की लौ) वीरवार सुबह 8.30 बजे गांव डबवाली के पास नैशनल हाईवे-10 पर एक स्कूल की बस पलट जाने से चालक सहित 10 बच्चों के चोटें आयीं। जिन्हें उपचार के लिए डबवाली के सामान्य अस्पताल में पहुंचाया गया।
ईस्टवुड इंटरनैशल स्कूल डूमवाली (बठिंडा) की एक बस गांव किंगरे, मलिकपुरा, मसीतां, मटदादू, मौजगढ़ से करीब 38 स्कूली बच्चों को लेकर सुबह स्कूल की ओर आ रही थी लेकिन जैसे ही गांव डबवाली से दो बच्चों को चढ़ा कर चली तो डबवाली साईड से आये एक ट्रक-ट्राला की साईड लगने से अचानक पलट गई और उसमें सवार बच्चों में से 10 बच्चों को चोटें आयीं। जिन्हें ग्रामीणों ने डबवाली के सामान्य अस्पताल में पहुंचाया।
गांव डबवाली के पूर्व पंच रेशम सिंह, गुरूद्वारा में बनी दुकान में वर्कशाप का काम करने वाले मक्खन सिंह, मलकीत सिंह और अन्य प्रत्यक्षदर्शी लाला ङ्क्षसह ने बताया कि बस बच्चों से भरी हुई थी और सामने से आ रहे ट्राला से बचती हुई जैसे ही सड़क की साईड में गई और अचानक पीछे से ट्राला की भी साईड लग गई तथा पलट गई। बस पलटते ही बच्चों में कोहराम मच गया। इस दृश्य को देख कर उन सहित गांव के लोग वहां जमा हो गये और उन्होंने बच्चों को बस से निकाला।
घायल स्कूल बस चालक जसमेल सिंह (22) पुत्र खेता राम मलिकपुरा ने बताया कि वह हर रोज की तरह वीरवार सुबह छह गांवों के बच्चों को लेकर स्कूल की ओर आ रहा था। वह जैसे ही गांव डबवाली में बच्चों को बस में चढ़ा कर चला तो उसने देखा कि एक तेजगति से ट्रक आगे जा रही ट्रेक्टर-ट्राली को ओवरटेक करता उसकी ओर आ रहा है। उसने ट्रक को साईड देते हुए बस को सड़क के किनारे लगा लिया। इसी दौरान बस सड़क से कुछ नीचे उतर गई और पीछे से ट्रक की साईड लगते ही पलट गई। उसने बताया कि उसने अपनी इस वैन नं. 1 का तत्काल शीशा तोड़ा और बाहर निकल कर हादसे की सूचना स्कूल कार्यालय में दी। इधर गांव डबवाली के लोगों की मदद से बच्चों को बस से बाहर निकाला। उसने बताया कि बस में लगभग 40 बच्चे सवार थे।
घायल बच्चों में +2 की रेणू (17) पुत्री राजेन्द्र कुमार मौजगढ़, रमनदीप कौर (17) पुत्री गुरदीप सिंह मौजगढ़, गुरजीत कौर (17) पुत्री जगसीर सिंह मसीतां, कमलजीत कौर (17) पुत्री गुरजन्ट सिंह मौजगढ़, 7वीं कक्षा की सिमरनजोत (12) पुत्री कुलदीप सिंह मौजगढ़, द्वितीय कक्षा का अभितेश (8) पुत्र सतविन्द्र सिंह मटदादू, तृतीय कक्षा की लवलीन (10) पुत्री स्वर्ण सिंह मटदादू, प्रथम कक्षा की गुरजोत सिंह (7) पुत्र जगतार सिंह किंगरा, 8वीं कक्षा का विजयनूर (14) पुत्र कुलदीप सिंह मौजगढ़ के नाम शमिल हैं। इनमें से रेणू और सिमरनजोत के अधिक चोटें हैं।
ईस्टवुड इंटरनैशनल स्कूल प्रबंधक समिति के सचिव संजम बादल ने इस दुर्घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि प्रशासन की लापरवाही के चलते ही यह घटना घटित हुई। उनके अनुसार पिछले तीन माह से नैशनल हाईवे-10 को चौड़ा करने के नाम पर अढ़ाई-अढ़ाई फुट तक खोद कर रख रखा है। उन्होंने यह भी बताया कि घायल  बच्चों के बेहतर उपचार के लिए उन्हें सरकारी अस्पताल से प्राईवेट अस्पताल में ले जाकर एक्सरे बगैरा करवाये गये हैं। अब सभी बच्चे ठीक हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: