युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

08 अगस्त 2010

डेरा प्रमुख को धमकी,सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप

सिरसा। डेरा सच्चा सौदा के ई-मेल पर आज डेरा व डेरा प्रमुख को उड़ा दिए जाने का संदेश मिलने के बाद डेरा के अनुयाइयों व सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया है।
स्वतंत्रता दिवस नजदीक होने व डेरा प्रमुख की लगातार पेशियों के दौरान मिले इस ई-मेल संदेश के बाद सुरक्षा घेरा बेहद मजबूत कर दिया गया है लेकिन सुरक्षा एजेंसियां इसके बावजूद आशंकित हैं। डेरा सच्चा सौदा के ई-मेल एड्रेस पर कल शाम मेल संदेश आया जिसमें डेरा सच्चा सौदा व डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को हमला करके उड़ा दिए जाने की बात लिखी थी। इस बात की सूचना डेरा प्रबंधकों ने तुरंत पुलिस को दी। सूचना मिलते ही सदर थाना पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा के उपप्रबंधक अभिजीत की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है।
डेरा सच्चा सौदा सिरसा के उपाध्यक्ष अभिजीत भगत ने सदर सिरसा पुलिस थाने में शिकायत दी है जिसमें कहा गया है कि 31 जुलाई को डेरा की मेल आईडी पर एक ई मेल मिला था जिसमें भेजने वाले ने अपना नाम मदन लिखा है। ई मेल में धमकी दी गई है कि डेरा के गढ़ी स्थित प्रेमपुरा धाम को 15 अगस्त के दिन बम से उड़ा दिया जाएगा। ई-मेल भेजने वाले ने अपना मोबाइल नंबर 9416589588 लिखा है। सदर सिरसा पुलिस ने अभिजीत भगत की शिकायत पर गत दिवस जान से मारने की धमकी देने सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उधर जब से डेरा को ई-मेल मिला है, तब से सुरक्षा एजेंसियां सतर्क है। जिस व्यक्ति का ई-मेल पर नाम व मोबाइल नंबर है उसे सिरसा एसपी ने बुलाकर पूछताछ भी की है। इससे पहले भी डेरा प्रमुख को जान से मारने की धमकी मिल चुकी है वहीं स्टपनी बम से उनके काफिले पर हमला भी हो चुका है जिसमें बख्शीश सिंह नामक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया हुआ है। यह मुकदमा अभी लंबित है। डेरा प्रमुख की आज साध्वी यौन शोषण मामले में पेशी थी।
शाम 4 बजे डेरा प्रमुख कोर्ट में पेश हुए और मात्र 25 मिनट की पेशी के बाद ही उन्हें कड़ी सुरक्षा व जेड प्लस के घेरे में वापस डेरा में ले जाया गया। धमकी के बाद आज अदालत परिसर में पुलिस का बंदोबस्त पहले के मुकाबले काफी कड़ा था। आगामी 13 व 14 अगस्त को रणजीत सिंह हत्याकांड में सुनवाई होनी है। इसी 14 अगस्त को ही बाबा की जमानत रद्द किए जाने संबंधी फैसला भी होना है।
उधर डेरा को ई-मेल भेजने का आरोपी मदन हांसी के पास स्थित गांव मेहंदा का रहने वाला है। मदन ने बताया कि उसने किसी को मेल नहीं किया है। मेल पर उसका नाम व मोबाइल नंबर लिखकर उसे फंसाया जा रहा है। वह प्रेमपुरा धाम में भी लिखित में इस बाबत शपथ पत्र दे चुका है। सिरसा एसपी से भी वह मिलकर स्पष्टीकरण दे चुका है। मदन ने बताया कि 18 जून को उसे भी किसी ने मोबाइल पर जान से मारने की धमकी दी थी। लगता है किसी साजिश के तहत उसे फंसाया जा रहा है। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को बेहद तगड़ा कर दिया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: