युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

28 जुलाई 2010

विद्यार्थियों ने रोकी बसें

बनवाला (जसवन्त जाखड़) मंगलवार सुबह स्कूली छात्र-छात्राओं ने गांव बनवाला में शराब के ठेके के निकट स्थित बस अड्डे पर जाम लगाकर सिरसा से संगरिया जा रही बस को रोक लिया। जाम लगने की सूचना पाकर थाना औढ़ां से उपनिरीक्षक धर्मवीर दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और इतने में गांव के सरपंच भरत सिंह डुडी व अन्य गांववासी भी मौका पर आग गए। सुबह सात बजे लगाया गया जाम दो घंटे बाद नौ बजे खोला गया। छात्रा कमला, किरण, सरोज, कमलेश, पूनम, कमल, रूकमणी, छात्र सुनील, सतबीर, संदीप, अजय, गुरमीत व प्रेम आदि ने बताया कि वे 30 छात्र और 40 छात्राएं रिसालियाखेड़ा में कक्षा दस जमा एक और दो में पढ़ते हैं और कोई साधन न होने के कारण उन्हें प्रतिदिन पैदल जाना पड़ता है।
उन्होंने बताया कि उनके लिए पहले सुबह सात बजे रिसालियाखेड़ा के लिए एक बस जाती थी जिसे छुट्टियों के दौरान बंद कर दिया गया है, छुट्टियां बीतने के बाद बस पुन: शुरू नहीं की गई है।
उन्होंने बताया कि इस बारे में पहले भी जाम लगाया था और जीएम ने मौके पर पहुंचकर बस शुरू करवा दी थी लेकिन वही बस अब छ़ट्टियों के बाद नहीं चलाई गई जिसके कारण उन्हें पैदल स्कूल जाना पड़ता है। अभिभावकों मनफूल, महेंद्र जाखड़, साहिब राम नंबरदार, छात्र नेता सुरेंद्र जाखड़ आदि ने विद्यार्थियों का समर्थन करते हुए कहा कि बस बंद हो जाने के कारण बच्चों को प्रतिदिन एक घंटा पहले जाना पड़ता है और वे एक घंटा बाद में आते हैं जिससे समय खराब होता है, उन्हें पैदल जाना पड़ता है, गर्मी का मौसम है बच्चे बीमार हो सकते हैं या किसी दुघर्टना के शिकार हो सकते हैं। जाम के दौरान विद्यार्थियों ने रोडवेज के खिलाफ नारेबाजी भी की। उपनिरीक्षक धर्मबीर और सरपंच भरत सिंह ने विद्यार्थियों को समझाया और आश्वासन दिया कि उनकी जायज समस्या को देखते हुए ग्राम पंचायत शीघ्र ही रोडवेज के जीएम से मिलेगी और विद्यार्थियों के लिए पहले वाली बस सेवा दोबारा शुरू करवा दी जाएगी। आश्वासन के बाद जाम खोल दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: