युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

28 जुलाई 2010

दो वर्षों से टयूब्बैल कनेक्शन के लिए धक्के खा रहा है किसान

डबवाली (लहू की लौ) टयूब्बैल कनेक्शन के लिए एक किसान पिछले दो सालों से बिजली निगम कार्यालयों के धक्के खा रहा है। हालांकि इसके लिए किसान ने बिजली निगम को सिक्योरिटी भी जमा करवा रखी है। किसान ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को एक पत्र भेजकर अपनी समस्या की ओर ध्यान आकर्षित करवाया है।
गांव खुईयांमलकाना के किसान रघुवीर सिंह के पुत्र श्री कृष्ण ने मुख्यमंत्री को भेजे अपने पत्र में कहा है कि उनकी जमीन गांव मसीतां में है। जमीन में टयूब्बैल का कनेक्शन लेने लिए उसने 1500 रूपए दिनांक 15.03.2008 को सिक्योरिटी स्वरूप तथा 11.05.2009 को पोल के खर्चे के रूप में 21 हजार रूपए की राशि जमा करवा दी थी। इसके अतिरिक्त 11.05.2009 को ही ट्रांस्फार्मर के खर्चे के तौर पर 20,000 रूपए की राशि जमा करवाई। लेकिन अभी तक उसे टयूब्बैल का कनेक्शन नहीं मिला है। जबकि इसके लिए वह बिजली विभाग के अनगिनित चक्कर काट चुका है।
किसान के ने मुख्यमंत्री को भेजे अपने पत्र में आरोप लगाया है कि 42 हजार 500 रूपए की राशि विभाग के कार्यालय में जमा करवाए जाने और चक्कर लगाने के बावजूद भी उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही। किसान ने सीएम से न्याय दिलाए जाने की मांग की है।
इस संबंध में दक्षिण हरियाणा विद्युत वितरण निगम के एसडीई गुलशन वधवा से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि निगम ने 30-3-09 तक के सभी आवेदकों को टयूब्बैल कनेक्शन मुहैया करवा दिए हैं। अगले माह पुन: टैण्डर होंगे। आशा है कि निगम द्वारा शिकायतकर्ता का आवेदन पास कर लिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: