युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

25 जुलाई 2010

ग्रामीण लोक अदालत आयोजित

डबवाली (लहू की लौ) शनिवार को गांव मौजगढ़ के राजकीय विद्यालय में ग्रामीण लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता उपमण्डल न्यायिक दण्डाधिकारी तथा उपमण्डलीय विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष महावीर सिंह तथा न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी एवं सचिव उपमण्डलीय विधिक सेवा समिति अमरजीत सिंह ने की।
इस मौके पर महावीर सिंह की अदालत के कुल 54 केस प्रस्तुत हुए। जिसमें से 31 का मौका पर निपटारा कर दिया गया। जबकि अमरजीत सिंह की अदालत के 56 केस प्रस्तुत हुए जिसमें से 30 का निपटारा कर दिया गया। इस मौके पर राजेन्द्र कुमार तहसीलदार की प्रशासनिक अदालत में कुल 34 इंतकाल प्रस्तुत हुए। सभी को मौका पर निपटारा कर दिया गया।
एडवोकेट कुलवन्त सिंह, सुखबीर बराड़ ने उपस्थित ग्रामीणों को लोक अदालतों के महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी। एडवोकेट एसके गर्ग ने घरेलू हिंसा से स्त्रियों की सुरक्षा अधिनियम 2005 तथा मनरेगा के बारे में अपने विचार रखे। इस मौके पर मंच का संचालन एडवोकेअ युधीष्ठिर शर्मा, इन्द्रपाल बिश्नोइ्र, हंसा सिंह कानूनगो, हरमेश पटवारी, रामसरूप मैहता, जितेन्द्र दंदीवाल, महिपाल सिंह, ओपी गांधी, विनोद बिश्नोई, बलजीत सिंह, रमेश बिश्नोई, इन्द्रजीत, गुरप्रीत बराड़, बीएस सूर्या, राजेश यादव, चरणजीत सिधू, कंवलजीत कम्बोज, जसविन्द्र सिंह, राधेश्याम, एससी शर्मा, वाईके शर्मा, शविन्द्र सिंह, गांव मौजगढ़ के हनुमान नम्बरदार, हरदम पटवारी, अमरीक बैनीवाल आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: