युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

09 जून 2011

गुण्डों को शह दे रही पुलिस

राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक संगठनों ने की पत्रकार राजीव गोयल पर हमले की निंदा
डबवाली (लहू की लौ) पत्रकार राजीव गोयल पर खबर छापने को लेकर हुए कातिलाना हमले की शहर की विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक संस्थाओं ने कड़े शब्दों में निंदा की है।
मुख्यमंत्री के पूर्व ओएसडी डॉ. केवी सिंह, नगर सुधार मण्डल के पूर्व चेयरमैन तथा इनेलो जिला सिरसा के प्रधान महासचिव रणवीर सिंह राणा, इनेलो कार्यालय डबवाली प्रभारी महेंद्र डूडी, टेकचंद छाबड़ा, वरच्युस क्लब के प्रधान डॉ. मथुरा दास चलाना, संस्थापक केशव शर्मा, प्रमुख आढ़ती परविंद्र अरोड़ा, युवा रक्तदान सोसाईटी के संस्थापक सुरेंद्र सिंगला, समाजसेवी राजेंद्र गर्ग, शहर कांग्रेस के अध्यक्ष पवन गर्ग, पार्षद विनोद बांसल, आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष हरबिलास निरंकारी, सचिव गुरदीप कामरा, वरिष्ठ नागरिक कल्याण संघ के उपाध्यक्ष सेवानिवृत्त प्रिंसीपल आत्मा राम अरोड़ा, नारी शक्ति संस्था की संस्थापिका डॉ. प्रेमकांता आहलुवालिया, धानक समाज ऑल इंडिया के अध्यक्ष राजा पेंटर ने पत्रकार राजीव गोयल पर गत दिवस हुए कातिलाना हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए  आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही किए जाने की मांग की है।
वहीं इसी मामले में बुधवार को पत्रकारों की एक बैठक संपन्न हुई। जिसमें फतेह सिंह आजाद, डॉ. एचएम ओसवाल, जयमुनी गोयल, सुभाष सेठी, राजीव वढेरा, इकबाल शांत, वासदेव मैहता, रवि मोंगा, महावीर सहारण, डॉ. राजकपूर, अशोक सेठी, सुखपाल सिंह, पवन कौशिक, मनोज, डीडी गोयल उपस्थित थे। बैठक में पुलिस द्वारा हमलावरों को गिरफ्तार न करने की जोरदार शब्दों में निंदा की गई। पत्रकारों ने एकमत से कहा कि शहर में गुण्डागर्दी आम बात हो चुकी है। यहां-वहां तेजधार हथियारों से लैस गुण्डे घूमते रहते हैं। सबकुछ देखते हुए भी पुलिस इन गुण्डों पर नकेल डालने में नाकाम रही है। पुलिसिया शह की बदौलत गुण्डा तत्वों के हौंसले इतने बुलंद हो गए हैं कि ये गुण्डे लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को चुनौती देने लगे। पत्रकार पर हमला करने वाले गुण्डों को पुलिस ने गिरफ्तार करना तो दूर, उन पर केस भी दर्ज नहीं कर पाई है। पत्रकारों ने पत्रकार राजीव गोयल पर जानलेवा हमला करने वालों पर भादसं की दफा 307 तथा 506 आदि के तहत मामला दर्ज करके शीघ्र-अतिशीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की है।

कोई टिप्पणी नहीं: