युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

26 मई 2011

सगे भाईयों के हत्यारोपी ने किया आत्मसमर्पण

डबवाली (लहू की लौ) डबवाली उपमंडल के गांव देसूजोधा में जमीनी विवाद को लेकर 15 मई को दो सगे भाइयों की हत्या के एक आरोपी ने बुधवार को उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी डॉ. अतुल मडिया की अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। अदालत ने एक दिन का पुलिस रिमांड देते हुए आरोपी को पुलिस को सौंप दिया।
15 मई को गांव देसूजोधा में जमीनी विवाद को लेकर बठिंडा जिला के गांव गुरूसर सैहनेवाला के नत्था सिंह ने अपने कुछ साथियों के साथ मिल कर देसूजोधा निवासी दर्शन सिंह उर्फ मट्टू कबड्डी खिलाड़ी और कौर सिंह दोनों भाइयों की दिन दिहाड़े गोली मार कर हत्या कर दी थी। थाना शहर पुलिस ने दर्शन सिंह के बेटे वकील सिंह की शिकायत पर 7 व्यक्तियों नत्था सिंह, उसकी बेटी परमजीत कौर, दामाद, तीन अज्ञात ट्रेक्टर-ट्राली चालक व कार चालक के खिलाफ धारा 302/148/149/120बी और शस्त्र अधिनियम  के तहत मामला दर्ज करके आरोपियों की तालाश के लिए चार टीमें गठित की थीं।
घटना का मुख्य आरोपी घटना के बाद बठिंडा जाकर अस्पताल में दाखिल हो गया था। लेकिन बाद में अस्पताल से बिना बताये गायब हो गया। पुलिस के दबाब के चलते आज हत्या आरोपियों में से चरणजीत पुत्र गुरदेव सिंह निवासी गुरूसर सैहनेवाला जिला बठिंडा ने डबवाली की अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया और अदालत ने आरोपी को पुलिस को सौंप दिया।
थाना शहर प्रभारी निरीक्षक बलवन्त जस्सू ने बताया कि अदालत से पकड़े गये आरोपी को एक दिन के पुलिस रिमांड पर ले लिया है ताकि हत्या में प्रयुक्त किये गये हथियार व अन्य आरोपियों के पते व ठिकानों के बारे में पता लगाया जा सके। यहां विशेषकर उल्लेखनीय है कि गिरफ्तार किये गये चरणजीत, मुख्य आरोपी नत्था सिंह का सीरी है। अभी तक म ुख्य आरोपी और छह अन्य आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: