युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

04 जुलाई 2010

उपायुक्त की सिक्योरिटी में तैनात गार्ड निकला लुटेरा

डबवाली (लहू की लौ) पिस्तौल की नोक पर लाखों रूपये का सोना लूटने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए दो सदस्यों को हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार करके बड़ी सफलता अर्जित की है। लुटेरों में पंजाब के एक डीसी का सिक्योरिटी गार्ड भी शामिल है।
थाना शहर प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेन्द्र सिंह के अनुसार दिल्ली से गंगानगर जा रही जमींदारा ट्रांस्पोर्ट की एक बस जब 26 जून को सुबह डबवाली पहुंची तो उसमें सवार अबोहर निवासी सौरभ शर्मा (23) पुत्र नरेन्द्र शर्मा को चार अज्ञात कार सवारों ने बस से अपहरण करके एक इंडिको कार में मंडी किलियांवाली के डीकासर गुरूद्वारा के पास ले जाकर पिस्तौल की नोक पर उसके अंडरवीयर में छुपाये 950 ग्राम सोना बिस्कुट और जेवरात लूट लिये थे। शिकायतकर्ता ने पुलिस को यह भी बताया था कि लुटेरों  में से एक पंजाब पुलिस की वर्दी में भी था।
सौरभ शर्मा ने उस समय पुलिस को दिये ब्यान में बताया था कि वह गंगानगर की जवाहर मार्किट में स्थित कन्हैया लाल की दुकान पर सोने-चांदी का काम करता है और गंगानगर के कन्हैया लाल का 250 ग्राम, अशोक कुमार का 550 ग्राम और दौलत राम का 150 ग्राम सोना दिल्ली से 15 लाख रूपये में खरीद कर गंगानगर जमींदारा ट्रांस्पोर्ट से ले जा रहा था।
जिला सिरसा पुलिस ने एसपी सतिन्द्र गुप्ता के दिशा निर्देश पर आरोपियों की तालाश शुरू करते हुए सौरभ शर्मा द्वारा बताई गई पहचान के आधार पर तीन स्कैच तैयार किये थे। इन स्कैच को एसआई कैलाश चन्द्र ने स्वयं सीआईए बठिंडा के साथ-साथ मलोट, गिदड़बाहा, संगत, बरनाला, फरीदकोट, मुक्तसर के थानों में जाकर पुलिस को दिये और सहयोग मांगा। पुलिस को इस अभियान में शुक्रवार शाम को उस समय भारी सफलता मिली जब मुखबरी के आधार पर बठिंडा के बस स्टैंड के सामने सौरभ शर्मा की शिनाख्त पर लूटेरा गिरोह के दो लोगों को दबोच लिया। दबोचे गये लोगों ने पुलिस को अपनी पहचान गुरजीत सिंह (48)पुत्र बलदेव सिंह तथा जगजीत सिंह उर्फ जग्गा (43) पुत्र मुख्तियार सिंह निवासीगण फरीदकोट (पंजाब) के रूप में करवाई।
थाना प्रभारी के अनुसार पकड़े गये गुरजीत सिंह ने अपनी पहचान को विस्तार से बताते हुए बताया कि वह पंजाब पुलिस में हवलदार के पद पर है और इन दिनों फरीदकोट के उपायुक्त की गार्द में बतौर सुरक्षा गार्ड तैनात है।
पुलिस ने उपरोक्त दोनों आरोपियों को न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी अमरजीत सिंह की अदालत में पेश करके अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने, लूट में प्रयुक्त की गई कार, लूटा गया सोना बरामद करने के लिए 5 दिन का पुलिस रिमांड मांगा। लेकिन अदालत ने पुलिस की याचिका को स्वीकार करते हुए आरोपियों का तीन दिन का पुलिस रिमांड दे दिया।

कोई टिप्पणी नहीं: