युवा दिलों की धड़कन, जन जागृति का दर्पण, निष्पक्ष एवं निर्भिक समाचार पत्र

15 अक्तूबर 2009

अमेरिकन लेडी पहुंची एचपीएस में


डबवाली (वि.) अमेरिकन लेडी डैब्बी ने बुधवार को हरियाणा पब्लिक डे-बोर्डिंग स्कूल, शेरगढ़ में अपने शैक्षणिक भ्रमण व शिक्षण के दौरान कहा कि शिक्षा के व्यवहारिक ज्ञान के लिए जिस वातावरण की जरूरत होती है सब इस स्कूल में बच्चों को दी जा रही है। भारतीय भ्रमण के लिए आई अमेरिकन लेडी जोकि आर्किटेकट हैं, दो दिनों में बच्चों को अंग्रेजी के विषय के बारे में जानकारी देंगी तथा यहां के स्टाफ को नई-नई विधाओं के बारे में जानकारी देंगी। बच्चों को अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि शिक्षा जीवन में केवल पैसे कमाने के लिए ही नहीं अपितु दूसरों की सहायता करने के लिए बहुत जरूरी है और सभी को कम-से-कम यूनिवर्सिटी तक की शिक्षा जरूर ग्रहण करनी चाहिए। विद्यालय अनुशासन को देखकर आत्मविभोर होकर उन्होंने कहा कि इस अनुशासन से ही भारत की ताकत व संयम का ज्ञान मिलता है। शिक्षा से ही हमें शांति मिलती है और हम शांति फैला सकते हैं। शिक्षा के लिए केवल किताबी ज्ञान ही प्राप्त नहीं अपितु व्यवहारिक ज्ञान होना भी जरूरी है। इसके लिए भ्रमण की हॉबी अत्याधिक कारगर होती है। इसी उद्देश्य से वह भ्रमण के लिए भारत प्रथम बार आई है हालांकि अन्य देशों में भी भ्रमण किया है। परस्पर संवाद के महत्व पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा रहेगी एचपीएस के विद्यार्थियों को अमेरिका के विद्यार्थियों से स्कूल के सहयोग से पत्राचार एवं ईमेल से संवाद स्थापित हो ताकि अच्छे रिश्तों के साथ-साथ परस्पर ज्ञान का भी आदान-प्रदान कर सकें। उन्होंने कहा कि वे शिक्षक नहीं अपितु उनके पास ऐसे कुछ विचार हैं जिससे शिक्षा तनाव मुक्त व ज्ञानवद्र्धक हो सकती है। गणित के अध्ययन पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि इस विषय पर विद्यार्थियों को ओर अधिक ध्यान देना चाहिए। इसके बाद उन्होंने बच्चों की जिज्ञासाओं को तृप्त किया तथा उनके सवालों का स्टीक उत्तर दिया। उन्होंने माना कि केवल पैसा ही किसी देश को विकसित नहीं बनाता केवल शिक्षा ही है जिसके बल पर कोई भी देश विकसित बन जाता है। उन्होंने कहा कि अमेरिका के स्कूल सिस्टम में सप्ताहिक टैस्ट को अत्याधिक महत्व दिया जाता है और छुट्टी के दिन कोई काम नहीं दिया जाता।

कोई टिप्पणी नहीं: